अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में छात्रों और रिपब्लिक टीवी के बीच झड़प, 14 के खिलाफ देशद्रोह का मुक़दमा

उत्तर प्रदेश में बीजेपी सरकार आने के बाद से अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी लगातार विबादों के घेरे में आती जा रही है| विबाद कभी जिन्ना की तस्वीर को लेकर तो कभी तिरंगा यात्रा के नाम पर राइट-विंग की राजनीति के रूप मे सामने आता है| अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी एक बार फिर विबादो में है जिसकी वजह अलग है लेकिन इरादा वही| इस बार बजह बना है रिपब्लिक टीवी|

0

उत्तर प्रदेश में बीजेपी सरकार आने के बाद से अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी लगातार विबादों के घेरे में आती जा रही है| विबाद कभी जिन्ना की तस्वीर को लेकर तो कभी तिरंगा यात्रा के नाम पर राइट-विंग की राजनीति  के रूप मे सामने आता है| अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी एक बार फिर विबादो में है जिसकी वजह अलग है लेकिन इरादा वही| इस बार बजह बना है रिपब्लिक टीवी|

लोकसभा चुनाव से पहले एएमयू सियासी अखाड़ा बनता जा रहा है। छात्रसंघ ने मुस्लिम फ्रंट बनाने के लिए मंगलवार को कई दलों के नेताओं के साथ बैठक की। बैठक का हिंदूवादी छात्रनेताओं व भाजपाइयों ने विरोध किया, लेकिन कुछ नहीं हो सका। कैंपस में हंगामे की शुरुआत बैठक की कवरेज करने आई एक चैनल की महिला रिपोर्टर से दोपहर करीब दो बजे छात्रों और मीडिया कर्मियों के बीच हुई तनातनी से हुई।

पुलिस एएमयू सर्किल पर मोर्चा संभाले हुई थी कि भाजपा विधायक दलवीर सिंह के नाती अजय सिंह कुछ छात्रों के साथ पहुंचे। यहां एसपी सिटी आशुतोष द्विवेदी से शिकायत की कि बीटेक (फाइनल) के छात्र मनीष चौधरी के साथ सुलेमान हॉल में मारपीट की गई। इसकी शिकायत करने प्रॉक्टर कार्यालय गए तो वहां छात्रों ने गाली-गलौज कर धमकाया। एसपी सिटी ने नहीं सुनी तो आरोपितों पर कार्रवाई की मांग को लेकर अजय की अगुवाई में छात्र रजिस्ट्रार कार्यालय पर धरने पर बैठ गए।

धरने की भनक दूसरे गुट को हुई तो सैकड़ों की संख्या मेंं छात्र पहुंचकर अजय व उसके समर्थकों पर हमलावर हो गए। दोनों गुटों में गाली-गलौज हुई, मारपीट की नौबत आ गई। वहां पहुंचे एसपी सिटी, सीओ तृतीय पंकज श्रीवास्तव, सीओ गभाना संजीव दीक्षित व अभिसूचना इकाई के अधिकारियों से छात्रों की नोकझोंक व धक्का-मुक्की हुई। एएमयू सुरक्षा बल व पुलिस अधिकारी मौके की नजाकत को भांपते हुए अजय व उसके साथियों को धरने से उठाकर एएमयू सर्किल पर ले आए। सर्किल पर भी ये गुट कैंपस में जाने की जिद पर अड़ा रहा। सीओ ने किसी तरह समझाया। कुछ देर बाद वहां भाजयुमो जिलाध्यक्ष मुकेश लोधी, भाजपा प्रवक्ता निशित शर्मा व अन्य कार्यकर्ता के साथ पहुंच गए।

एसएसपी आकाश कुलहरि ने बताया कि छात्रों के दो गुटों में हुए विवाद से सर्किल पर बवाल हुआ। एक फायर होने की जानकारी मिली है। टीवी चैनल की महिला रिपोर्टर से अभद्रता की गई है। मुकेश लोधी व महिला रिपोर्टर की ओर से दो मुकदमे दर्ज कराए गए हैं। लोधी ने एएमयू छात्रों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा लिखाया है। मारपीट, हंगामे के कुछ वीडियो फुटेज मिले हैं। परीक्षण चल रहा है। मामले की एसआइटी से जांच कराई जाएगी।

भाजयुमो जिलाध्यक्ष मुकेश कुमार लोधी ने एएमयू छात्रसंघ अध्यक्ष, उपाध्यक्ष सहित 14 छात्रों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कराया है जबकि छात्रों की तरफ से की गई रिपोर्ट पर अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है। लिखाई गई रिपोर्ट में छात्रों द्वारा पाकिस्तान जिंदाबाद और भारत मुर्दाबाद के नारे लगाने का आरोप लगाया है। क्वार्सी क्षेत्र के सरोज नगर निवासी मुकेश ने कहा है कि मंगलवार दोपहर साढ़े तीन बजे वह मित्र मनोज शर्मा के साथ स्कॉर्पियो से कलक्ट्रेट आ रहे थे। स्कॉर्पियो पर भाजपा का झंडा व पार्टी का स्टीकर लगा देख लाल डिग्गी चौराहे पर एएमयू के पूर्व छात्रसंघ उपाध्यक्ष नदीम अंसारी, जैद शेरवानी, सचिव हुजैफा आमिर, उपाध्यक्ष हमजा सूफियान,  मोहम्मद आमिर, नवेद आलम, छात्रसंघ अध्यक्ष सलमान इम्तियाज, मशकूर अहमद, आरिफ त्यागी, फरहान जुबैरी, नजमुल साकिब, जकी, रिहान, असद आदि गाड़ी से बाहर खींचने लगे। विरोध करने पर फायङ्क्षरग की। एक गोली उनके शरीर को छूकर निकल गई, दूसरी कार में जा धंसी। मनोज शर्मा का मोबाइल व चेन लूट ली। आरोपित छात्र पाकिस्तान जिंदाबाद व भारत मुर्दाबाद के नारे लगाकर तमंचे लहरा रहे थे। किसी तरह वे वहां से जान बचाकर निकले। इंस्पेक्टर सिविल लाइंस विनोद कुमार ने बताया कि तहरीर के आधार पर जानलेवा हमले, लूट, देशद्रोह, मारपीट, बलवे की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है|

एएमयू छात्रों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने की मांग को लेकर बड़ी संख्या में भाजपाई सिविल लाइंस थाने पहुंच गए। भाजपाइयों ने थाने में पुलिस मुर्दाबाद के नारे लगाकर हंगामा किया। एसपी सिटी व सीओ उन्हें समझाने में जुटे रहेे। इसके बाद ही रिपोर्ट दर्ज हो सकी। थाने में भाजपा नेता विवेक सारस्वत, मानव महाजन, मुकेश लोधी, निखिल माहेश्वरी, चंद्रमणि कौशिक, विवेक शर्मा आदि मौजूद रहे।

एएमयू में मंगलवार को बवाल के बाद छात्र बाबे सैयद गेट पर धरने पर बैठ गए। ये छात्र अजय सिंह और उसके समर्थन में आए भाजपा नेताओं पर अराजकता फैलाने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई के साथ छात्रों पर दर्ज मुकदमे वापस लेने की मांग कर रहे हैं। तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए भारी तादात में पुलिस बल देर रात तक सर्किल चौराहे पर डटा रहा। पुलिस अधिकारी एएमयू प्रशासन से लगातार संपर्क बनाए हुए हैं। बता दें कि बीते वर्ष दो मई को मुहम्मद अली जिन्ना को लेकर बाबे सैयद पर बवाल हुआ था। छात्रों को रोकने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज, आंसू गैर के गोले दागने पड़े थे। तब भी छात्र कई दिन धरने पर बैठे रहे।

नुमाइश के प्रभारी अधिकारी व एडीएम प्रशासन श्री अजय कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि बोर्ड परीक्षा में अधिकतर पुलिस अधिकारियों व कर्मियों की ड्यूटी लगी हुई है तथा एएमयू में हुए प्रकरण में भी पुलिस बल लगा हुआ है। इसी के दृष्टिगत पर्याप्त पुलिस बल न होने के कारण तथा जनहित में सुरक्षा की दृष्टि से एसएसपी श्री कुलहरि के अनुरोध पर डीएम श्री सिंह ने मुशायरा का कार्यक्रम स्थगित कर दिया है।

एएमयू में तनाव के चलते जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने आदेश दिए हैं कि जिले में बुधवार की दोपहर 2 बजे से गुरुवार दोपहर 12 बजे तक इंटरनेट सेवा बंद रहेगी। खास बात यह है कि एएमयू में जिन्ना की तस्वीर को लेकर हुए बवाल के दौरान भी प्रशासन ने 22 घंटे के लिए अलीगढ़ में इंटरनेट सेवा बंद कर दी थी। यह अब तक दूसरा ऐसा मौका है जब इंटरनेट सेवा बंद की गई है।



Summary
Article Name
14 Aligarh Muslim University students booked for sedition after fracas with Republic TV crew
Description
उत्तर प्रदेश में बीजेपी सरकार आने के बाद से अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी लगातार विबादों के घेरे में आती जा रही है| विबाद कभी जिन्ना की तस्वीर को लेकर तो कभी तिरंगा यात्रा के नाम पर राइट-विंग की राजनीति के रूप मे सामने आता है| अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी एक बार फिर विबादो में है जिसकी वजह अलग है लेकिन इरादा वही| इस बार बजह बना है रिपब्लिक टीवी|
Author
Publisher Name
The Policy Times