बुलंदशहर हिंसा में नया मोड़, जीतू नाम का फौजी ने मरी थी इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को गोली

बुलंदशहर बवाल में एसआईटी और एसटीएफ की जांच में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। बवाल में शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को जम्मू में तैनात जीतू उर्फ फौजी ने गोली मारी थी। फौजी अपने गांव में छुट्टी पर आया हुआ था। इंस्पेक्टर को उसकी अवैध पिस्टल से गोली लगना सामने आया है। घटना के बाद फौजी जम्मू भाग गया।

0

बुलंदशहर बवाल में एसआईटी और एसटीएफ की जांच में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। बवाल में शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को जम्मू में तैनात जीतू उर्फ फौजी ने गोली मारी थी। फौजी अपने गांव में छुट्टी पर आया हुआ था। इंस्पेक्टर को उसकी अवैध पिस्टल से गोली लगना सामने आया है। घटना के बाद फौजी जम्मू भाग गया।

पुलिस को इस संबंध में एक महत्वपूर्ण वीडियो मिला है, जिसमें फौजी गोली चलाता साफ दिख रहा है। उसके बाद पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों ने जम्मू में फौजी की यूनिट के अधिकारियों से बात की। फौजी की गिरफ्तारी के लिए बुलंदशहर से पुलिस की टीम जम्मू के लिए रवाना हो गई है।

Related Article:बुलंदशहर घटना एक सोची समझी साजिश, अखलाक हत्याकांड के जांच अधिकारी रहे सुबोध कुमार पर मीट सैंपल बदलने का था दबाव

गौकशी को लेकर बुलंदशहर के स्याना थाना की चिंगरावठी पुलिस चौकी में सोमवार को बवाल हुआ था। जिसमें इंस्पेक्टर स्याना सुबोध कुमार और छात्र सुमित की गोली लगने से मौत हुई है। सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर एडीजी इंटेलीजेंस, एसआईटी, एटीएस, एसटीएफ, क्राइम ब्रांच और बुलंदशहर पुलिस जांच पड़ताल में लगी हैं।

इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को किसने गोली मारी और उसका हत्यारोपी कौन है। यह भी जांच का विषय है कि स्थानीय युवक सुमित को किसकी गोली लगी। जांच अधिकारियों को इस प्रकरण में एक महत्वपूर्ण वीडियो मिला है, जिसमें एक व्यक्ति भीड़ में गोली चलाता दिखाई दे रहा है। जांच में यह व्यक्ति फौजी बताया गया, जो कि जम्मू में तैनात है।

आर्मी जवान की माँ ने बोला अगर मेरा बेटा दोषी है तो खुद से गोली मार दूंगी

इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या का शक जिस आर्मी जवान जीतू फौजी (जितेंद्र मलिक) पर लग रहा है| उसकी मां इस आरोप से इनकार कर रही हैं| जम्मू-कश्मीर में तैनात आर्मी जवान जीतू उर्फ फौजी के उपर इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या का आरोप लगने की खबरों के बाद उसकी मां ने कहा कि घटना के दिन उनका बेटा जीतू गांव में मौजूद नहीं था| अगर जीतू दोषी पाया जाता है तो वह खुद उसे गोली मार देंगी| उनका यह भी कहना है कि उनके पति से पुलिस ने जबरदस्ती दबाव डालकर ये बातें उगलवाई हैं|

उन्होंने कहा मेरे पति पर दबाव डालकर कबूल करवाया गया है| मेरा बेटा वहां मौजूद नहीं था पुलिस ने मेरे परिवार से बदसलूकी की| घर के सारे सामान को तहस-नहस कर दिया| मेरे पति को जबरन उठा के पुलिस ले गई हालांकि बताया जा रहा है कि जीतू के पिता ने पुलिस पूछताछ में बताया है कि घटना के समय जीतू घटनास्थल पर ही था| पुलिस ने जीतू के आसपास के गांव वालों से भी कंफर्म किया है| वीडियो को 13 लोगों को दिखाने के बाद ही यह पक्का हुआ कि घटना के समय जीतू फौजू मौके पर था|

Related Article:बुलंदशहर हिंसा: कौन है मुख्य आरोपी योगेश राज, बजरंग दल से क्या रिश्ता

दरअसल, यूपी पुलिस के एक बड़े अधिकारी के मुताबिक स्थानीय, आरोपी और मौके पर मौजूद रहे लोगों से पूछताछ पर जीतू फौजी का नाम सामने आया है| उसे पकड़ने के लिए दो टीमें निकल चुकी हैं, लेकिन हम लोकेशन इसलिए नहीं बता सकते क्योंकि इससे जांच प्रभावित हो सकती है| जब हम जीतू को पकड़ लेंगे और पूछताछ कर लेंगे तब बता पाएंगे कि क्या वाकई में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या जीतू फौजी ने ही की है|

पुलिस ये पुख़्ता तौर पर कह रही है कि जीतू उर्फ फौजी घटना में शामिल था| इसलिए उसे नामजद किया गया है| सुबोध कुमार को गोली जीतू फ़ौजी ने मारी या नहीं इस पर सवाल है| जीतू उर्फ फ़ौजी घटना के तुरंत बाद भागकर अपना बटालियन चला गया| जीतू का भाई धरमेंद्र भी आर्मी में है और वह पूणे में तैनात है| पुलिस ने जीतू के पिता राजपाल से पूंछताछ की जिसमें से पता चला कि घटना के दिन जीतू उर्फ फौजी गांव में ही था|

वहीं पुलिस में एक और एफआईआर दर्ज कराई गई है| यह एफआईआर गोकशी मामले में है| बजरंग दल के योगेश राज ने यह एफआईआर दर्ज कराई है| इसमें सात मुस्लिमों के नाम हैं, जिनमें से दो नाबालिग है| यूपी पुलिस योगेश राज की तलाश कर रही है| हालांकि, योगेश राज ने एक वीडियो जारी कर कहा कि वह घटना के वक्त घटनास्थल पर नहीं था और उसने गोली नहीं चलाई है|

Summary
A new twist in Bulandshahr violence, Jitu was killed by a soldier, the inspector Subodh Kumar shot
Article Name
A new twist in Bulandshahr violence, Jitu was killed by a soldier, the inspector Subodh Kumar shot
Description
बुलंदशहर बवाल में एसआईटी और एसटीएफ की जांच में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। बवाल में शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को जम्मू में तैनात जीतू उर्फ फौजी ने गोली मारी थी। फौजी अपने गांव में छुट्टी पर आया हुआ था। इंस्पेक्टर को उसकी अवैध पिस्टल से गोली लगना सामने आया है। घटना के बाद फौजी जम्मू भाग गया।
Author
Publisher Name
THE POLICY TIMES
Publisher Logo