अमेज़न पे अब नहीं मिलेंगे ये प्रोडक्ट्स, सरकार ने एफडीआई को लेकर राहत देने से इनकार किया

दुनिया की जानी मानी ई-कॉमर्स कंपनी अमेज़न ने शुक्रवार को भारत के कई प्रोडक्ट्स अपने वेबसाईट से हटा दिए है| अमेज़न साईट से हटाए इन प्रोडक्ट्स में स्पीकर्स, बैटरियां और फर्श की सफाई करने वाले उत्पाद शामिल है| न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, अमेजन ने गुरुवार से ही अपनी वेबसाइट से प्रोडक्ट को हटाना शुरू कर दिया है|

0
foreign direct investment
221 Views

दुनिया की जानी मानी ई-कॉमर्स कंपनी अमेज़न ने शुक्रवार को भारत के कई प्रोडक्ट्स अपने वेबसाईट से हटा दिए है| अमेज़न साईट से हटाए इन प्रोडक्ट्स में स्पीकर्स, बैटरियां और फर्श की सफाई करने वाले उत्पाद शामिल है| न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, अमेजन ने गुरुवार से ही अपनी वेबसाइट से प्रोडक्ट को हटाना शुरू कर दिया है|

सरकार ने ई-कॉमर्स कंपनियों में एफडीआई (FDI) को लेकर राहत देने से इनकार कर दिया है| मामले की प्रत्यक्ष जानकारी वाले सूत्रों का कहना है कि गुरुवार देर रात से ही अमेजॉन इंडिया साइट से प्रोडक्ट्स गायब होना शुरू हो गए क्योंकि यह आधी रात की समयसीमा से पहले उसे नए नियमों का पालन करना था| सूत्रों का कहना है कि कंपनी के पास कोई विकल्प नहीं है और इसका खामियाजा ग्राहकों को ही भुगतना होगा| जिसकी वजह से शुक्रवार से यह नियम लागू हो गया है| नए नियम के बाद अमेज़न ने अपनी वेबसाइट से कई प्रोडक्ट को हटा दिया है|

Related Article:Home-Grown E-Commerce: The New Business Model

फिलहाल अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसी दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनियां जो सामान अपनी वेबसाइट पर बेचती थी उसमें उनकी सहयोगी कंपनियों की ओर से सप्लाई किए जाने वाले प्रोडक्ट भी होते थे| कई बार इसकी वजह से भी कीमतों को प्रभावित कर सस्ता सामान बेचा जाता है, इसीलिए अब ई-कॉमर्स कंपनियों की मैन्यूफैक्चरर्स के साथ होने वाली एक्सक्लूसिव प्रोडक्ट लॉन्च या सेल की डील भी नहीं हो सकेगी क्योंकि नए नियमों में इसकी मनाही है| ऐसे में मुमकिन है कि ई-कॉमर्स कंपनियां कोई और रास्ता निकलता न देख या तो सप्लायर्स को सामान वापस लौटाएं या फिर भारी डिस्काउंट पर बिक्री कर स्टॉक खत्म करें|

वॉलमार्ट अधिग्रहति फ्लिपकार्ट पर काफी असर पड़ा है| नए नियम के मद्देनज़र ई-कॉमर्स कंपनियां अब उन वेंडर के माध्यम से उत्पादों को नहीं बेच सकती हैं जिनमें उन्होंने खुद इंवेस्ट किया हो| इसके अलावा एक्सक्लूसिव अवेलेबल सिस्टम को भी खत्म किया गया है| अब अमेजन पर क्लाउडटेल द्वारा बेचे जा रहे प्रोडक्ट नहीं मिलेंगे क्योंकि इसमें कंपनी ने इंवेस्ट किया है| इसके अलावा शौपर्स स्टॉप के प्रोडक्ट भी यहां नहीं मिलेंगे|

Related Article:Germany tops the list of the best places to Start Business!

इससे पहले पिछले साल दिसंबर में भारत ने ई-कॉमर्स से जुड़े नियमों में बदलाव किए थे| इससे अमेजन समेत वॉलमार्ट और फ्लिपकार्ट जैसी कई दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए मुश्किल खड़ी हो गई थी| गुरुवार को सरकार ने इन नियमों को लागू करने की तारीख भी आगे बढ़ाने से इनकार कर दिया जिसके बाद से नए नियम लागू हो गए हैं|

Summary
Article Name
Amazon will not get these products now, Government refuses to relieve FDI
Description
दुनिया की जानी मानी ई-कॉमर्स कंपनी अमेज़न ने शुक्रवार को भारत के कई प्रोडक्ट्स अपने वेबसाईट से हटा दिए है| अमेज़न साईट से हटाए इन प्रोडक्ट्स में स्पीकर्स, बैटरियां और फर्श की सफाई करने वाले उत्पाद शामिल है| न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, अमेजन ने गुरुवार से ही अपनी वेबसाइट से प्रोडक्ट को हटाना शुरू कर दिया है|
Author
Publisher Name
THE POLICY TIMES