बिहार: स्कुल में धर्म और जाति के आधार पे बंटा है क्लास सेक्शन, प्रिंसिपल के खिलाफ कारवाई का आदेश

बिहार के एक सरकारी स्कुल में ऐसा मामला सामने आया है जहाँ बच्चों को कक्षा में धर्म और जाति के नाम पर बांटा गया है| बिहार के वैशाली जिले के लालगंज में स्थित एक सरकारी उच्च माध्यमिक विद्यालय में बच्चों को धर्म और जाति के हिसाब से बिठाया जाता है| साथ ही उनके सेक्शन भी धर्म और जाति के हिसाब से बांटे गए हैं|

0
Bihar: Class section, division of religion and caste is divided on the basis of order, action against principal
107 Views

बिहार के एक सरकारी स्कुल में ऐसा मामला सामने आया है जहाँ बच्चों को कक्षा में धर्म और जाति के नाम पर बांटा गया है| बिहार के वैशाली जिले के लालगंज में स्थित एक सरकारी उच्च माध्यमिक विद्यालय में बच्चों को धर्म और जाति के हिसाब से बिठाया जाता है| साथ ही उनके सेक्शन भी धर्म और जाति के हिसाब से बांटे गए हैं|

इस मामले पर बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्णा नंदन वर्म का कहना है कि जांच के आदेश दे दिए गए हैं जल्द की इस मामले के बारे में सच का पता लगा लिया जाएगा| साथ ही उन्होंने कहा अगर यह मामला सच है तो बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है| किसी भी स्कूल में बच्चों को इस तरह से विभाजित करना गलत है|

जिला के एजुकेशन ऑफिसर अरविंद तिवारी का कहना है कि उन्होंने इस शिकायत के बाद स्कूल का जाएजा किया है और मामले की रिपोर्ट भी भेज दी है|

रिपोर्ट्स के मुताबिक इस स्कूल में हिंदू और मुस्लिम दोनों बच्चों को अलग-अलग सेक्शन में बिठाया जाता है| साथ ही दलित,OBC और ऊंची जाति के बच्चों को अलग क्लास में बिठाया गया है| इतना ही नहीं इस स्कूल का हाज़िरी का रजिस्टर भी बच्चों के रोल नं. से नहीं बल्कि उनके धर्म और जाति के हिसाब से बांटा हुआ है लेकिन स्कूल के इस तरह के खराब प्रबंधन के बावजूद बच्चों में कोई दरार नहीं नज़र आती| इस स्कूल के सभी बच्चे एक साथ खेलते हैं, स्कूल जाते हैं और छुट्टी के वक्त बाहर आते हैं|

द वायर में छापी रिपोर्ट के मुताबिक, स्कूल की प्रधानाध्यापिका मीना कुमारी ने बताया कि नौंवी कक्षा में 770 छात्र-छात्राएं नामांकित हैं जिन्हें छह सेक्शनों में बांटा गया है| हर सेक्शन में 70 बच्चों का नामांकन कर उन्हें दो भागों वन और टू में बांटा गया है| कुमारी ने बताया कि एक सेक्शन के दोनों पार्ट के रजिस्टर भी अलग-अलग हैं| हालांकि, एक सेक्शन के दोनों पार्ट के बच्चे एक ही क्लास में बैठते हैं| उन्होंने नौवीं कक्षा का उदाहरण देते हुए बताया, ‘ए1 में अल्पसंख्यक छात्राएं, ए2 में अल्पसंख्यक छात्र, बी1 में अत्यंत पिछड़ा वर्ग की छात्राएं, बी2 में केवल अत्यंत पिछड़ा वर्ग के छात्र, डी1 में केवल दलति वर्ग की छात्राएं, डी2 में केवल एससी-एसटी के छात्रों का नामांकन और पठन-पाठन कराया जाता है|

इस तरह बच्चों का विभाजन करने पर मीना कुमारी ने कहा, ‘ऐसा हमने स्कूल के बच्चों की पढ़ाई में सुविधा एवं योजनाओं के क्रियान्वयन में सहूलियत के ख्याल से किया है| इसका कहीं से कोई विरोध नहीं है| बच्चों के साथ कोई जातिगत भेदभाव नहीं किया जाता है|’

विद्यालय प्रबंधन ने इस स्कूल में यह व्यवस्था चार वर्षों से लागू कर रखा है लेकिन इस पर किसी प्रशासनिक पदाधिकारी का ध्यान नहीं गया| स्कूल में जाति एवं धर्म के आधार पर बच्चों के लिए अलग-अलग कक्षा होने की शिकायत मिलने के बाद जिला प्रशासन ने स्कूल की प्रधानाध्यापिका के खिलाफ कार्रवाई करने का आदेश दिया है|

वैशाली के जिला अधिकारी राजीव रोशन ने कहा कि ये मामला बेहद गंभीर है| उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने स्कूल में जाकर मामले की जांच की है| प्रारंभिक जांच में आरोप सही पाए जाने पर स्कूल की प्रधानाध्यापिका के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया गया है|

साथ ही उन्होंने बताया कि भविष्य में इस तरह का मामला न हो इसके लिए सभी स्कूलों की नियमित जांच कराई जाएगी और शिक्षा विभाग के अधिकारियों को सख्त निर्देश दिया गया है| हाल के दिनों में शिक्षण संस्थाओं में जाति, धर्म और शाकाहारी-मांसाहारी जैसे चीजों को लेकर बंटवारे की खबरें आती रही हैं| जैसे कि कुछ ही दिन पहले मद्रास-आईआईटी में शाकाहारी और मांसाहारी छात्रों के लिए अलग दरवाजे और वॉशबेसिन का मामला सामने आया था|

इससे पहले बीते सितंबर में दिल्ली के एक स्कूल में हिंदू-मुसलमान बच्चों को अलग-अलग सेक्शन में बांटने का मामला सामने आया था|

Summary
Bihar: Class section, division of religion and caste is divided on the basis of order, action against principal
Article Name
Bihar: Class section, division of religion and caste is divided on the basis of order, action against principal
Description
बिहार के एक सरकारी स्कुल में ऐसा मामला सामने आया है जहाँ बच्चों को कक्षा में धर्म और जाति के नाम पर बांटा गया है| बिहार के वैशाली जिले के लालगंज में स्थित एक सरकारी उच्च माध्यमिक विद्यालय में बच्चों को धर्म और जाति के हिसाब से बिठाया जाता है| साथ ही उनके सेक्शन भी धर्म और जाति के हिसाब से बांटे गए हैं|
Author
Publisher Name
THE POLICY TIMES
Publisher Logo