चुनाव अधिकारी ने चेताया, प्रचार में न करें सबरीमाला मसले का इस्तेमाल

तिरुवनंतपुरम, केरल में राज्य निर्वाचन आयोग (एसईसी) ने सोमवार को राज्य में राजनीतिक दलों को आगाह किया कि सबरीमला मंदिर मामले को चुनाव प्रचार का मुद्दा ना बनाए। केरल के मुख्य निर्वाचन आयुक्त टीका राम मीना ने यहां मीडिया को बताया कि ‘सबरीमला मुद्दे’ पर धार्मिक प्रोपेगैंडा फैलाना आदर्श आचार संहिता का स्पष्ट उल्लंघन होगा। उन्होंने कहा, धार्मिक भावनाएं उकसाना, उच्चतम न्यायालय के फैसले का किसी तरह इस्तेमाल करना, धर्म के नाम पर वोट मांगना या धार्मिक भावनाएं भड़काना आदर्श आचार संहिता का स्पष्ट उल्लंघन है।

0
Election officer warns, do not use the Sabarimala issue in the campaign

तिरुवनंतपुरम, केरल में राज्य निर्वाचन आयोग (एसईसी) ने सोमवार को राज्य में राजनीतिक दलों को आगाह किया कि सबरीमला मंदिर मामले को चुनाव प्रचार का मुद्दा ना बनाए। केरल के मुख्य निर्वाचन आयुक्त टीका राम मीना ने यहां मीडिया को बताया कि ‘सबरीमला मुद्दे’ पर धार्मिक प्रोपेगैंडा फैलाना आदर्श आचार संहिता का स्पष्ट उल्लंघन होगा। उन्होंने कहा, धार्मिक भावनाएं उकसाना, उच्चतम न्यायालय के फैसले का किसी तरह इस्तेमाल करना, धर्म के नाम पर वोट मांगना या धार्मिक भावनाएं भड़काना आदर्श आचार संहिता का स्पष्ट उल्लंघन है।

Related Article:चुनाव 2019: EC ने जारी किए गाइडलाइंस, उम्मीदवारों को देनी होगी सभी सोशल मीडिया अकाउंट की जानकारी

सीईसी ने यह भी कहा कि आयोग ऐसा कोई उल्लंघन नहीं करने देगा जिससे किसी खास राजनीतिक दल को दूसरे दल के मुकाबले लाभ मिलेगा। मीना ने कहा की सबरी भगवान के नाम पर सबरीमला मुद्दे पर धार्मिक प्रोपेगैंडा करना या भावनाएं भड़काना आदर्श आचार संहिता का स्पष्ट उल्लंघन होगा।उन्होंने कहा कि जहां तक केरल का संबंध है तो यह विवादित मामला है और राजनीतिक दलों को एक सीमा तय करने की जरुरत है कि किस हद तक इसका इस्तेमाल करना है।

Related Article:चुनाव में विदेशी हस्तक्षेप रोकने की हिदायत, संसदीय समिति के सामने पेश हुए फेसबुक के अधिकारी

सीईसीने यह भी कहा की मैं इस संबंध में राजनीतिक दलों के साथ बैठक कर रहा हूं और मैं उनसे वोट मांगने के लिए इस धार्मिक भावना या धार्मिक परंपराओं का अनावश्यक इस्तेमाल ना करने का अनुरोध करुंगा क्योंकि इससे लोगों के लिए धार्मिक तनाव पैदा हो सकता है। मीना ने कहा कि अगर यह होता है तो जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। केरल में 23 अप्रैल को चुनाव होंगे।

Summary
Article Name
Election officer warns, do not use the Sabarimala issue in the campaign
Description
तिरुवनंतपुरम, केरल में राज्य निर्वाचन आयोग (एसईसी) ने सोमवार को राज्य में राजनीतिक दलों को आगाह किया कि सबरीमला मंदिर मामले को चुनाव प्रचार का मुद्दा ना बनाए। केरल के मुख्य निर्वाचन आयुक्त टीका राम मीना ने यहां मीडिया को बताया कि ‘सबरीमला मुद्दे’ पर धार्मिक प्रोपेगैंडा फैलाना आदर्श आचार संहिता का स्पष्ट उल्लंघन होगा। उन्होंने कहा, धार्मिक भावनाएं उकसाना, उच्चतम न्यायालय के फैसले का किसी तरह इस्तेमाल करना, धर्म के नाम पर वोट मांगना या धार्मिक भावनाएं भड़काना आदर्श आचार संहिता का स्पष्ट उल्लंघन है।
Author
Publisher Name
The Policy Times

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here