चुनाव 2019: EC ने जारी किए गाइडलाइंस, उम्मीदवारों को देनी होगी सभी सोशल मीडिया अकाउंट की जानकारी

चुनाव आयोग ने रविवार को लोकसभा और राज्य चुनावों की तारीखों की घोषणा करते हुए सोशल मीडिया पर भी चुनाव आयोग ने कड़ी निगरानी का फैसला लिया है। इस बार 100 फीसदी ईवीएम में वीवीपैट की सुविधा रहेगी ताकि वोटर यह जान सकें कि उनका वोट सही जगह गया है या नहीं। 17वें लोकसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने सभी जरूरी आधिकारिक घोषणा कर दी है। जारी गाइडलाइंस के मुताबिक सात चरणों में ये चुनाव संपन्न कराए जायेंगे और चुनाव के पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल को होगा। चुनाव आयोग के मुताबिक उम्मीदवारों को अपनी सभी सोशल मीडिया अकाउंट से जुड़ी सभी जानकारियों को भी नामांकन के दौरान साझा करना होगा।

0
Elections 2019: EC issued guidelines, candidates will have to give information on all social media accounts

चुनाव आयोग ने रविवार को लोकसभा और राज्य चुनावों की तारीखों की घोषणा करते हुए सोशल मीडिया पर भी चुनाव आयोग ने कड़ी निगरानी का फैसला लिया है। इस बार 100 फीसदी ईवीएम में वीवीपैट की सुविधा रहेगी ताकि वोटर यह जान सकें कि उनका वोट सही जगह गया है या नहीं। 17वें लोकसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने सभी जरूरी आधिकारिक घोषणा कर दी है। जारी गाइडलाइंस के मुताबिक सात चरणों में ये चुनाव संपन्न कराए जायेंगे और चुनाव के पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल को होगा। चुनाव आयोग के मुताबिक उम्मीदवारों को अपनी सभी सोशल मीडिया अकाउंट से जुड़ी सभी जानकारियों को भी नामांकन के दौरान साझा करना होगा।

Related Article:चुनाव में विदेशी हस्तक्षेप रोकने की हिदायत, संसदीय समिति के सामने पेश हुए फेसबुक के अधिकारी

चुनाव आयोग प्रमुख सुनील अरोड़ा ने कहा कि सोशल मीडिया पर राजनीतिक विज्ञापन के लिए पूर्व सर्टिफिकेशन प्राप्त करना होगा। इसके लिए ईसी प्रमुख अरोड़ा ने गूगल, फेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब को सभी चुनावी उम्मीदवारों के प्रोफाइल और उनकी पार्टी प्रोफाइल को अच्छी तरह से जांच करने के आदेश दिए हैं। एक विशेष अधिकारी को इसके लिए नियुक्त किया जाएगा जिनके पास इस तरह की चीजों से जुड़ी शिकायत दर्ज की जा सकती है।

सोशल मीडिया पर किए जाने वाले चुनाव प्रचार में होने वाले खर्चे का ब्योरा भी चुनाव आयोग को सौंपना होगा। मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि आईटी कंपनियों ने भी सुनिश्चित किया है कि वे हेट स्पीच के खिलाफ कड़े कदम उठायेंगे। इस तरह के तत्वो पर कड़ी नजर रखी जाएगी। उन्होंने ये भी कहा कि पिछले साल चुनाव आयोग के द्वारा लांच किए गए सी-विजिल एप का भी जिक्र किया। इस एप के माध्यम से आचार संहिता के उल्लंघन से संबंधित हर शिकायत की रिपोर्ट की जा सकेगी।

Related Article:सुप्रीम कोर्ट की मध्यस्थता के फैसले पर मिली जूली प्रतिक्रिया

गौरतलब है कि इसके पहले चुनाव आयोग ने सभी राजनैतिक पार्टियों को ये भी गाइडलाइन जारी किया था कि वे चुनाव प्रचार के लिए पार्टी के होर्डिंग्स में भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान के साथ नेता की तस्वीरों को नहीं लगा सकते हैं।

बता दें कि कुछ समय पहले ही बीजेपी के वरिष्ठ नेता के साथ विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की एक तस्वीर के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद ही चुनाव आयोग ने इस पर संज्ञान लिया था। हालांकि इस बात का पता नहीं लगाया जा सका था कि यह होर्डिंग कहां लगाई गई थी।

Summary
Article Name
Elections 2019: EC issued guidelines, candidates will have to give information on all social media accounts
Description
चुनाव आयोग ने रविवार को लोकसभा और राज्य चुनावों की तारीखों की घोषणा करते हुए सोशल मीडिया पर भी चुनाव आयोग ने कड़ी निगरानी का फैसला लिया है। इस बार 100 फीसदी ईवीएम में वीवीपैट की सुविधा रहेगी ताकि वोटर यह जान सकें कि उनका वोट सही जगह गया है या नहीं। 17वें लोकसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने सभी जरूरी आधिकारिक घोषणा कर दी है। जारी गाइडलाइंस के मुताबिक सात चरणों में ये चुनाव संपन्न कराए जायेंगे और चुनाव के पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल को होगा। चुनाव आयोग के मुताबिक उम्मीदवारों को अपनी सभी सोशल मीडिया अकाउंट से जुड़ी सभी जानकारियों को भी नामांकन के दौरान साझा करना होगा।
Author
Publisher Name
The Policy Times

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here