होली खेलने से पहले स्किन और बालों का रखे ख्याल; खतरनाक रासायनिक रंगों से झुलस सकती है त्वचा

होली सबको प्यारी है। सब इसके रंग में सराबोर होना चाहते हैं लेकिन इससे पहले अपनी त्वचा की सुरक्षा से जुड़े उपायों के बारे में जानना बहुत जरूरी है। होली के रंगों का कई बार त्वचा पर खराब असर होता है, खासकर चेहरे की त्वचा पर जो कि काफी नाजुक होती है। ऐसे में किस तरह से अपनी त्वचा का ध्यान रखते हुए होली के हुड़दंग में शामिल हुआ जा सकता है।

0
Night-Shift-Duty
51 Views

रंगों से खेलना हर किसी को अच्छा लगता है।मगर कई बार ये रंग आपकी त्वचा, बाल या आंखों को नुकसान भी पहुंचा देते हैं। हर साल की तरह इस साल भी होली की तैयारियां जोर शोर से की जा रही हैं। बाजारों में केमिकल युक्त रंगों की भी भरमार देखने को मिल रही है जो त्वचा और आंखों के लिए खतरनाक साबित हो सकते हैं। होली यानी रंगों का त्योहार लेकिन होली के यह रंग कहीं रंग में भंग डाल दें। इन दिनों खतरनाक केमिकलों के जरिए तैयार किए गए रंगों की बाजार में भरमार है। अगर अभी तक आपने रंगगुलाल नहीं खरीदे हैं तो सोच समझकर ही रंग खरीदे। केमिकल युक्त रंग आपकी त्वचा और आंखों के लिए खतरनाक साबित हो सकती हैं। चिकित्सकों का कहना है कि रंगों में इतने खतरनाक केमिकल होते हैं, कि उनसे त्वचा, आंख, किडनी, लीवर, फेफड़ों में गंभीर इन्फेक्शन होने का खतरा होता है। इन रंगों के प्रयोग से त्वचा के झुलसने का खतरा बना रहता है।

त्वचा रोग विशेषज्ञ डा. सुजीत कुमार का कहना है कि होली को लेकर लोगों में एक गलत धारणा है, वो यह है कि रंग ऐसा लगाया जाए, जोकि एक सप्ताह या फिर महीने भर तक छूटे, लेकिन लोग इसके दुष्पभाव को नहीं जानते। उन्होंने कहा कि हरे, काले, नारंगी, सफेद आदि रंगों में पारा, कोमियम आयोडाइड, कांच के महीन टुकड़े आदि मिलाए जाते हैं। यह रासायनिक तत्व सीधेसीधे किडनी, लीवर और फेफड़ों के गंभीर इन्फेक्शन के लिए जिम्मेदार होते हैं।

वहीइंडियन ब्यूटी ब्लॉग शालिनी एट बी ब्यूटीलिशियस डॉटकॉमपर ब्लॉग लिखती रहीं मशहूर ब्लॉगर शालिनी श्रीवास्तव। शालिनी कहती हैं ऐसे में जब कि बाजार में रासायनिक रंगों कि भरमार है तो यह एहतियात और जरूरी हो जाती है। उन्होंने कहा कि यह आवश्यक है कि हम त्वचा की जलन का ख्याल रखें और साथ कुछ स्किनकेयर टिप्स को अपने दिमाग में सुरक्षित रखें।

कुछ बर्फ के टुकड़े लें और उन्हें एक साफ सूती कपड़े में लपेटें। 10 से 15 मिनट के लिए उन्हें अपने चेहरे पर रगड़ें। यह सुनिश्चित करेगा कि आपके चेहरे पर जो छिद्र हैं वो बंद हैं और उन सभी से आपकी त्वचा में रासायनिक रंगों का प्रवेश नहीं होगा। अपनी त्वचा और बालों पर तेल लगाएं। ऑइलिंग केवल आपके बालों तक सीमित नहीं होना चाहिए। आपकी त्वचा को रसायनों से भी बचाना होगा। सुनिश्चित करें कि आप अपनी पसंद के तेल के साथ अपने बालों को पूरी तरह से तेल लगाते हैं। आपकी त्वचा के लिए, 1 बड़ा चम्मच अरंडी का तेल, नारियल तेल और बादाम के तेल में मिला सकते हैं। अपनी त्वचा पर तेल के इस मिश्रण को एक मोटी परत के रूप मे लगायें जो एक बाधा के रूप में कार्य करेगा और आपकी त्वचा को रंगों से प्रभावित होने से बचाएगा।

सुनिश्चित करें कि आप घर से बाहर निकलने से पहले वाटरप्रूफ सनस्क्रीन अवश्य लगाएं यह आपकी त्वचा को टैन होने से बचाएगा और साथ ही पानी और रंगों से भी रक्षा होगी। यह बहुत संभव है कि आप रंगों से खेलते समय अपने नाखूनों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। उन्हें संरक्षित रखने के लिए, अपने नाखूनों पर नेल पेंट का एक मोटा कोट लगाएं और अपने क्यूटिकल्स को बचाने के लिए उन्हें नेल ऑयल से सील करें।

अपने होंठ सुरक्षित रखने के लिए आपको अपने होंठों पर पेट्रोलियम जेली या वैसलीन की एक मोटी परत लगाना नहीं भूलना चाहिए। इसके अलावा, आपके कान और गर्दन को भी सुरक्षित करने की आवश्यकता है, इसलिए सुनिश्चित करें कि आप उन्हें भी कोट करते हैं। यह हानिकारक रसायनों को आपके होंठ, गर्दन और कान को प्रभावित नहीं करने देगा।

अपने चेहरे को रसायन से भरी हुई साबुन और फेस वॉश से धोने की कोशिश करें क्योंकि वे आपके चेहरे पर मौजूद प्राकृतिक तैलीय तत्वों को नुक्सान पहुंचा सकते हैं और आपकी त्वचा रूखि हो सकती है। उन उत्पादों को साफ करने का विकल्प चुनें जो अधिक कार्बनिक और हर्बल हैं क्योंकि वें आपकी त्वचा को नुकसान नहीं पहुँचाते हैं। दही और बेसन, चंदन, गुलाब जल, और हल्दी जैसे प्राकृतिक सामग्री का उपयोग फेस पैक बनाने के लिए करें। यह आपकी त्वचा को शांत करेगा और आपकी त्वचा के प्राकृतिक संतुलन को बहाल करेगा।

जिद्दी रंग हमारी त्वचा पर एक बुरा दाग छोड़ते हैं। थोड़ी सी रूयी पर जैतून का तेल लेकर धीरे धीरे त्वचा से रंगों को हटाएँ यह आपकी त्वचा को मॉइस्चराइज करेगा और साथ ही साथ सभी रंगों को प्रभावी रूप से हटाएगा। बिस्तर पर जाने से पहले, सुनिश्चित करें कि आप एक मॉइस्चराइजर का उपयोग करें जो आपकी त्वचा पर हल्का और कोमल हो। यह पर्याप्त नमी प्रदान करेगा जब आप सोते हैं और आपकी त्वचा को मॉइस्चराइज रखते हैं। आप स्वस्थ चमकते चेहरे के साथ जागेंगे। आप जितना पानी पिएंगे आपकी त्वचा पर उतना निखार आएगा होली के बाद यह और भी आवश्यक है क्योंकि यह आपकी त्वचा को हाइड्रेट रखेगा।

Summary
Article Name
Skin and hair care before playing Holi; Skin can be scorched by dangerous chemical colors
Description
होली सबको प्यारी है। सब इसके रंग में सराबोर होना चाहते हैं लेकिन इससे पहले अपनी त्वचा की सुरक्षा से जुड़े उपायों के बारे में जानना बहुत जरूरी है। होली के रंगों का कई बार त्वचा पर खराब असर होता है, खासकर चेहरे की त्वचा पर जो कि काफी नाजुक होती है। ऐसे में किस तरह से अपनी त्वचा का ध्यान रखते हुए होली के हुड़दंग में शामिल हुआ जा सकता है।
Author
Publisher Name
The Policy Times