इमरान खान ने भारत से कहा पुलवामा हमले पर सबूत दो करवाई मै करूँगा

14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के मुद्दे पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मंगलवार को बयान जारी किया| अपने बयान में भारत को दबी जुबान में युद्ध की धमकी भी दे दी है, उन्होंने कहा कि अगर हमपर हमला किया गया तो पाकिस्तान खुला जवाब देगा|

0
Imran Khan say,s India On the Pulwama attack Give evidence i will take action

14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के मुद्दे पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मंगलवार को बयान जारी किया| अपने बयान में भारत को दबी जुबान में युद्ध की धमकी भी दे दी है, उन्होंने कहा कि अगर हमपर हमला किया गया तो पाकिस्तान खुला जवाब देगा| पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि हिंदुस्तान की सरकार पुलवामा हमले को लेकर बिना किसी सबूत के पाकिस्तान के ऊपर इल्जाम लगा रही है, हमने पहले इसलिए जवाब नहीं दिया क्योंकि सऊदी प्रिंस के दौरे को लेकर हमारा ध्यान था| जब क्राउन प्रिंस वापस गए हैं इसलिए अब मैं जवाब दे रहा हूं|

जांच के लिए तैयार

उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान की सरकार ने बिना किसी सबूत के पाकिस्तान पर इल्जाम लगा दिया, पाकिस्तान क्यों करेगा, इससे हमें क्या फायदा. अगर भारत की सरकार हमें कोई सबूत देगी तो हम इस मसले पर जांच करने के लिए तैयार है| अपने बयान में इमरान खान ने कहा कि पिछले 15 साल से हम आतंकवाद के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं, इससे हमें कोई फायदा नहीं है| हर बार कश्मीर में कुछ भी होता है तो पाकिस्तान पर इल्जाम लगाया जाता है|

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर हिंदुस्तान कोई जांच कराना चाहता है तो हम जांच करने के लिए तैयार हैं| उन्होंने कहा कि हम आतंकवाद पर बात करने को तैयार हैं, हम इसे खत्म करना चाहते हैं| पाकिस्तान को आतंकवाद से काफी नुकसान हुआ है|

Related Article:Anyone who picks up gun will be eliminated: Army Official

उसके बाद जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, मैं सहमत नहीं हूं। पाकिस्तान को पठानकोट का डोजियर दिया गया था लेकिन अपराधियों को दंडित करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया। साथ ही उन्होंने लिखा, टाइम टू वॉक द टॉक। लेकिन पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को एक चांस मिलना चाहिए क्योंकि उन्होंने हाल ही में पद संभाला है। बेशक चुनावों की तुलना में  युद्ध संबंधी बयानबाजी अधिक हो रही है।

गौर हो कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मंगलवार (19 फरवरी 2019) को भारत को भरोसा दिलाया कि यदि भारत पुलवामा आतंकवादी हमले में कार्रवाई योग्य खुफिया जानकारी साझा करता है तो साजिशकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने साथ ही चेतावनी दी कि उनके देश के खिलाफ कोई भी कार्रवाई किए जाने पर उसका जवाब दिया जाएगा। खान ने कश्मीर में गुरुवार को हुए आतंकवादी हमले में पाकिस्तान का हाथ होने के भारत के आरोपों पर राष्ट्र के नाम पैगाम में एक वीडियो संदेश के जरिए प्रतिक्रिया दी।

इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान क्षेत्र में स्थिरता चाहता है। उन्होंने कहा कि वह यह बात समझते हैं कि भारत में इस साल चुनाव होने हैं और पाकिस्तान को दोषी ठहराकर लोगों के वोट हासिल करना आसान हो जाएगा। उन्होंने उम्मीद जताई कि बेहतर समझ विकसित होगी और भारत वार्ता करने के लिए तैयार होगा। खान ने कहा कि जब भी कश्मीर में कोई घटना होती है, तो भारत पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराता है और पाकिस्तान को बार-बार बलि का बकरा बनाता है। उन्होंने कहा, अफगानिस्तान मामले की तरह कश्मीर मामला भी वार्ता के जरिए सुलझाया जाएगा।

इमरान ने कहा, यदि आपके पास किसी पाकिस्तानी की संलिप्तता के बारे में ऐसी कोई खुफिया जानकारी है जिसके आधार पर कार्रवाई की जा सकती है, तो वह जानकारी हमें दीजिए। मैं आपको भरोसा दिलाता हूं कि हम कार्रवाई करेंगे। हम ऐसा इसलिए नहीं करेंगे क्योंकि हम दबाव में हैं, बल्कि हम इसलिए ऐसा करेंगे क्योंकि वे पाकिस्तान के दुश्मनों की तरह काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा, मैं भारतीय मीडिया के माध्यम से सुन और देख रहा हूं कि नेता पाकिस्तान से बदला लेने की अपील कर रहे हैं। यदि भारत सोचता है कि वह पाकिस्तान पर हमला करेगा, तो हम केवल सोचेंगे नहीं बल्कि जवाब देंगे।

Related Article:12 CRPF personnel killed in terror attacks in Kashmir

खान ने कहा, जंग शुरू करना हमारे हाथ में है, यह आसान है लेकिन इसे समाप्त करना हमारे हाथ में नहीं है और कोई नहीं जानता कि क्या होगा। उन्होंने कहा, यहां से किसी व्यक्ति का बाहर जाकर आतंकवाद फैलाना हमारे हित में नहीं है और न ही यह हमारे हित में है कि कोई यहां आकर आतंकवादी गतिविधियां करे। खान ने कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद पर भारत के साथ वार्ता के लिए तैयार है।

उन्होंने कहा, मैं स्पष्ट रूप से कहता हूं कि यह नया पाकिस्तान है और एक नई मानसिकता है।इमरान खान ने कहा, आतंकवाद एक बड़ा मसला है जिसका यह क्षेत्र सामना कर रहा है और हम इसका खात्मा करना चाहते हैं। उन्होंने कहा, यदि कोई (कहीं आतंकवादी हमले करने के लिए) पाकिस्तानी सरजमीं का इस्तेमाल कर रहा है, तो वह हमारा दुश्मन है। यह हमारे हितों के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि उन्होंने भारत के आरोपों पर प्रतिक्रिया इसलिए नहीं दी थी क्योंकि वह देश में सऊदी अरब के युवराज (क्राउन प्रिंस) मोहम्मद बिन सलमान की यात्रा में व्यस्त थे।

प्रधानमंत्री ने कहा, भारत ने बिना किसी सबूत के और यह सोचे बिना पाकिस्तान पर आरोप लगाए हैं कि इससे (हमले से) हमें कैसे लाभ होगा। उन्होंने कहा, हम पिछले 15 साल से आतंकवाद के खिलाफ लड़ रहे हैं। इस प्रकार की घटनाओं से पाकिस्तान को कैसे लाभ होगा? खान ने कश्मीर मामले पर कहा, कश्मीरी अब मौत से नहीं डरते। इसके पीछे कोई तो कारण होगा। क्या भारत में इस पर चर्चा नहीं होनी चाहिए? दुनिया में कौन सा कानून हर किसी को जज और जूरी बनने की इजाजत देता है? उन्होंने सवाल किया कि क्या भारत सेना के जरिए मामला सुलझाना चाहता है? इससे कभी सफलता नहीं मिली है।

गौर हो कि 14 फरवरी को आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इसकी ज़िम्मेदारी ली थी।

Summary
Article Name
Imran Khan say,s India On the Pulwama attack Give evidence i will take action
Description
14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के मुद्दे पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मंगलवार को बयान जारी किया| अपने बयान में भारत को दबी जुबान में युद्ध की धमकी भी दे दी है, उन्होंने कहा कि अगर हमपर हमला किया गया तो पाकिस्तान खुला जवाब देगा|
Author
Publisher Name
THE POLICY TIMES