भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर और पीओके के बीच होने वाले व्यापार पर रोक लगाई, 300 व्यापारी होंगे प्रभावित

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने गुरुवार को जम्मू कश्मीर और पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के बीच होने वाले व्यापार पर रोक लगा दी है| एलओसी पर होने वाले इस व्यापार में रोज़मर्रा की होने वाली चीजों का व्यापार किया जाता है| यह व्यापार सलामाबाद, उरी, बारामुल्ला, पूंछ और चाकन दे बाग़ इलाके से होता है|

0
INDIA PAK TRADE at LoC

————————————————————————————————-

Highlights

  1. भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर और पीओके के बीच होने वाले व्यापार पर रोक लगा दी है|
  2. भारत सरकार द्वारा उठाया गया यह कदम लगभग 300 व्यापारियों को प्रभावित करेगा|
  3. सरकार को ऐसी रिपोर्ट मिली है कि पाकिस्तान स्थित आतंकी तत्व इस व्यापार मार्ग के बहाने फेक करेंसी, अवैध हथियार, नशे का सामान, आदि भेज सकते है|
  4. सरकार एक मज़बूत रेगूलेटरी सिस्टम बनाने पर विचार कर रही है|

—————————————————————————————————

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने गुरुवार को जम्मू कश्मीर और पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के बीच होने वाले व्यापार पर रोक लगा दी है| एलओसी पर होने वाले इस व्यापार में रोज़मर्रा की होने वाली चीजों का व्यापार किया जाता है| यह व्यापार सलामाबाद, उरी, बारामुल्ला, पूंछ और चाकन दे बाग़ इलाके से होता है|

Related Article:Indo-Pak: What Next? Bilaterally & Internally

भारत सरकार द्वारा उठाए गए इस कदम से लगभग 300 व्यापारियों को प्रभावित करेगा| इसके साथ ही 1,200 से अधिक लोग जो प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से इस व्यापार से जुड़े हैं|

जांच में यह बात सामने आई कि कुछ लोग सीमा पार कर पकिस्तान चले गए है| उन्होंने आतंकी संगठनो के साथ मिलकर पाकिस्तान में ट्रेडिंग फर्म खोल ली है|

सरकार एक मज़बूत रेगूलेटरी सिस्टम बनाने पर विचार कर रही है| इस रेगूलेटरी सिस्टम के बन जाने के बाद एलओसी पर व्यापार फिर से शुरू किया जाएगा|

खबर के मुताबिक, सरकार को ऐसी रिपोर्ट मिली है कि पाकिस्तान स्थित आतंकी तत्व इस व्यापार मार्ग के बहाने फेक करेंसी, अवैध हथियार, नशे का सामान, आदि भेज सकते है| इस वजह से सरकार पीओके और जम्मू कश्मीर के बीच होने वाले व्यापार पर रोक लगाने का फैसला किया है|

एमएचए के प्रवक्ता ने कहा कि क्रॉस-एलओसी व्यापार मार्गों के बीच पाकिस्तान के अवैध हथियारों, नशीले पदार्थों और नकली मुद्रा, आदि के लिए दुरुपयोग किया जा रहा है| उन्होंने कहा कि दुरुपयोग की रिपोर्ट बड़े पैमाने पर थी| जम्मू कश्मीर और पीओके के बीच यह व्यापार बार्टर सिस्टम और जीरो ड्यूटी के आधार पर होता था और सप्ताह में चार दिन होता है| रिपोर्ट्स में यह कहा गया कि एलओसी पर होने वाले इस व्यापार का बड़े स्तर पर गलत इस्तेमाल किया जा रहा है| खबर के मुताबिक देश विरोधी तत्वों द्वारा इस व्यापार मार्ग का इस्तेमाल हवाला, ड्रग्स और हथियारों के लिए हो रहा है|

Related Article:Will Imran Khan Be Able to Clean-Sweep Pakistan’s Problems?

भारत-पाक व्यापारिक सबंध

भारत और पाकिस्तान में संबंध हमेशा से ही ऐतिहासिक और राजनैतिक मुद्दों कि वजह से तनाव में रहे हैं| भारत को पाक मुख्य तौर पर 10 उत्पादों का निर्यात करता है| इनमें ताजे फल, सीमेंट, पेट्रोलियम उत्पाद, खनिज और चमड़ा उत्पाद प्रमुख हैं| पाक से कुल आयात में प्रोसेस्ड खनिज, अकार्बनिक रसायन, कॉटन, सूती कपड़े, शीशा और शीशे के सामान की हिस्सेदारी करीब 95 फीसदी तक है|

साल 2017-18 में पाकिस्तान से भारत का आयात बढ़कर 48.85 करोड़ डॉलर पर पहुंच गया था| 2016-17 में पाकिस्तान से भारत का आयात 45.55 करोड़ डॉलर रहा था| कश्मीर में पुलवामा में आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ बड़ा कदम उठाया है| उसने पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन (MFN) का दर्जा वापस ले लिया था|

Summary
Article Name
INDIA PAK TRADE at LoC
Description
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने गुरुवार को जम्मू कश्मीर और पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के बीच होने वाले व्यापार पर रोक लगा दी है| एलओसी पर होने वाले इस व्यापार में रोज़मर्रा की होने वाली चीजों का व्यापार किया जाता है| यह व्यापार सलामाबाद, उरी, बारामुल्ला, पूंछ और चाकन दे बाग़ इलाके से होता है|
Author
Publisher Name
The Policy Times