ओआईसी बैठक में भारत को ‘गेस्ट ऑफ ऑनर’ के तौर पर आमंत्रित किया गया, सुषमा स्वराज होंगी शामिल

मुस्लिम बहुल देशों के शक्तिशाली संगठन ओआईसी के विदेश मंत्रियों के उद्घाटन पूर्ण सत्र में भारत को आमंत्रित किया गया है और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अगले महीने अबू धाबी में इसमें ‘गेस्ट ऑफ ऑनर’ के तौर पर शरीक होंगी। विदेश मंत्रालय ने इस न्योते को भारत में 18. 5 करोड़ मुसलमानों की मौजूदगी और इस्लामी जगत में भारत के योगदान को मान्यता देने वाला एक स्वागत योग्य कदम बताया है।

0
199 Views

मुस्लिम बहुल देशों के शक्तिशाली संगठन ओआईसी के विदेश मंत्रियों के उद्घाटन पूर्ण सत्र में भारत को आमंत्रित किया गया है और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अगले महीने अबू धाबी में इसमें ‘गेस्ट ऑफ ऑनर’ के तौर पर शरीक होंगी। विदेश मंत्रालय ने इस न्योते को भारत में 18. 5 करोड़ मुसलमानों की मौजूदगी और इस्लामी जगत में भारत के योगदान को मान्यता देने वाला एक स्वागत योग्य कदम बताया है।

(UAE) के विदेश मंत्री शेख अब्दुल्ला बिन जायद अल नाहयान ने स्वराज को निमंत्रण दिया। उन्हें ‘गेस्ट ऑफ ऑनर’ के रूप में आमंत्रित किया गया है।

Related Article:Children with special needs strengthen Indo-Bangladesh bonhomie

भारत ने निमंत्रण के लिए यूएई के नेतृत्व को धन्यवाद दिया और कहा कि इसे स्वीकार करने में खुशी है। विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘हम इस निमंत्रण को यूएई के प्रबुद्ध नेतृत्व की इच्छा के रूप में देखते हैं जो हमारे तेजी से बढ़ते हुए निकट द्विपक्षीय संबंधों से आगे बढ़कर बहुपक्षीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक सच्ची बहुपक्षीय साझेदारी कायम करता है।’

विदेश नीति पर नजर रखने वालों ने कहा कि मुस्लिम देशों के प्रभावशाली समूह से स्वराज को निमंत्रण वैश्विक रूप से बढ़ते भारतीय प्रभाव का प्रतीक है। यह निमंत्रण पाकिस्तान को एक कड़ा संदेश देता है कि ओआईसी भारत को एक महत्वपूर्ण सहयोगी मानता है।

विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘यह निमंत्रण संयुक्त अरब अमीरात के साथ भारत की व्यापक रणनीतिक साझेदारी में एक मील का पत्थर है। इस आमंत्रण को भारत में 185 मिलियन मुसलमानों की उपस्थिति ,अहम योगदान और इस्लामिक दुनिया में भारत के योगदान के स्वागत के रूप में भी देखा जाता है।’

Related Article:Trump provokes Iraq, gets sharp reaction with demands for US exit

ऑर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन (OIC) 1969 में स्थापित किया गया एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है, जिसमें 57 सदस्य राष्ट्र शामिल हैं। इसमें 40 देश मुस्लिम प्रमुख देश हैं।

पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने के बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान को अलग – थलग करने के लिए उसके खिलाफ कूटनीतिक कोशिशें तेज किए जाने के बीच ओआईसी ने यह कदम उठाया है। गौरतलब है कि ओआईसी आमतौर पर पाकिस्तान का समर्थक है और कश्मीर मुद्दे पर अक्सर ही पाकिस्तान का पक्ष लेता है। विदेश मंत्रालय ने बताया है कि संयुक्त अरब अमीरात के विदेश मंत्री शेख अब्दुल्ला बिन जायद अल नाहयान ने सुषमा को गेस्ट ऑफ ऑनर के तौर पर आमंत्रित किया है और भारत इस न्योते को स्वीकार कर खुश है।

Summary
Article Name
India was invited as 'Guest of Honor' at the OIC meeting, Sushma Swaraj would join
Description
मुस्लिम बहुल देशों के शक्तिशाली संगठन ओआईसी के विदेश मंत्रियों के उद्घाटन पूर्ण सत्र में भारत को आमंत्रित किया गया है और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अगले महीने अबू धाबी में इसमें ‘गेस्ट ऑफ ऑनर’ के तौर पर शरीक होंगी। विदेश मंत्रालय ने इस न्योते को भारत में 18. 5 करोड़ मुसलमानों की मौजूदगी और इस्लामी जगत में भारत के योगदान को मान्यता देने वाला एक स्वागत योग्य कदम बताया है।
Author
Publisher Name
THE POLICY TIMES