6 महिलाओं ने मंत्री म ज अकबर पर लगाए यौन उत्पीड़न के आरोप, कांग्रेस ने कहा पद से इस्तीफा दो|

#मीटू अभियान में नई हस्तियों के नाम आ रहे हैं। इसी कड़ी में केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर पर भी आरोप लगे हैं। जब वे संपादक थे तो उन्होंने कई महिला पत्रकारों का यौन उत्पीड़न किया।

0
MeToo movement gets murkier, 6 women journalist exposed M J Akbar
282 Views

#मीटू अभियान में नई हस्तियों के नाम आ रहे हैं। इसी कड़ी में केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर पर भी आरोप लगे हैं। जब वे संपादक थे तो उन्‍होंने कई महिला पत्रकारों का यौन उत्‍पीड़न किया। इस सिलसिले में कई पत्रकारों ने सोशल मीडिया का सहारा लेते हुए अकबर पर सार्वजनिक रूप से आरोप लगाए हैं। इस कड़ी में पत्रकार प्रिया रमानी ने उन पर सबसे पहले आरोप लगाते हुए अपनी स्‍टोरी को साझा किया|  उस वक्‍त दुनिया भर में शुरू हुए मीटू अभियान की पृष्‍ठभूमि में उन्‍होंने अपनी स्‍टोरी को लिखा था। हालांकि उस वक्‍त उन्‍होंने आरोपी का नाम सार्वजनिक नहीं किया था। लेकिन 8 अक्‍टूबर को उन्‍होंने अपनी स्‍टोरी के लिंक को शेयर करते हुए लिखा कि दरअसल उनकी पुरानी स्‍टोरी एमजे अकबर से संबंधित थी।

महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर के ऊपर लगे यौन शोषण के आरोपों पर कहा कि उनके खिलाफ जांच होनी चाहिए।

मेनका गांधी ने कहा कि इसकी जांच होनी चाहिए। ऊंचे ओहदे पर बैठे पुरुष अक्सर ऐसा करते हैं। मेनका गांधी पहली भाजपा नेता हैं जिन्होंने पूर्व पत्रकार और विदेश राज्य मंत्री एमजे एकबर को लेकर बयान दिया है। मेनका गांधी ने आगे कहा कि महिलाएं पहले ऐसी बातें करने से डरती थीं, क्योंकि उन्हें लगता था कि लोग उनका मजाक बनाएंगे या उनके कैरेक्टर पर सवाल उठाएंगे।

कांग्रेस ने जांच की मांग की, सरकार चुप

इन आरोपों के सामने आने के साथ ही कांग्रेस ने केंद्रीय मंत्री एम जे अकबर के खिलाफ लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच की मांग की है| दूसरी तरफ, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इस सवाल को टाल गईं कि क्या सरकार अकबर के खिलाफ कोई कार्रवाई करेगी? इन आरोपों पर विदेश राज्य मंत्री अकबर की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है| कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयपाल रेड्डी ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि एमजे अकबर खुद आकर मामले पर सफाई दें या फिर इस्तीफा दें उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच होनी चाहिए|

वहीं, कांग्रेस की प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने सुषमा स्वराज की चुप्पी पर भी सवाल उठाए| उन्होंने कहा कि आखिर अपने मंत्री पर सुषमा स्वराज चुप क्यों हैं? उदित राज पर कार्रवाई क्यों नहीं कर रही है बीजेपी? बता दें कि अपने समय के मशहूर संपादक व वर्तमान में केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एम.जे.अकबर पर दो महिला पत्रकारों ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं| एक महिला पत्रकार द्वारा विदेश राज्य मंत्री एम.जे.अकबर पर आरोप लगाने के एक दिन बाद, उनकी एक और पूर्व सहयोगी  ने भी उन पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए.

Related Articles:

आपको बता दें कि प्रिया रमानी ने अपने आरोप को पूरी मजबूती के साथ पेश किया है और इस सिलसिले में कई ट्वीट्स किए हैं जिनमें उन्होंने न सिर्फ अपना पूरा दर्द बयान किया है, बल्कि यौन शोषण की पूरी कहानी को दोहराई है|  प्रिया रमानी के सामने आने के बाद इंडियन एक्‍सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक उनको मिलाकर छह महिला पत्रकारों ने एमजे अकबर पर आरोप लगाए हैं।

इस कड़ी में रमानी की तरह के अनुभव फ्रीलांस पत्रकार कनिका गहलोत ने भी साझा कि हैं।

उन्‍होंने कहा कि , ”मैंने भले ही रमानी का लेख नहीं पढ़ा है लेकिन मुझे इसकी जरूरत नहीं है क्‍योंकि मैंने अकबर के साथ 3 सालों तक काम किया है” कनिका ने 1995-1997 तक द एशियन एज में काम किया। एमजे अकबर वहां संपादक थे, कनिका ने कहा कि जब मैंने वहां ज्‍वाइन किया था, उससे पहले ही मुझे उनके बारे में बता दिया गया था।

उन्‍होंने द इंडियन एक्‍सप्रेस को बताया कि जब वह 1993-96 के दौरान अखबार की लांच टीम का हिस्‍सा थीं तो एक दिन अकबर एकदम पीछे आकर खड़े हो गए। उन्‍होंने कहा, ”मेरी ब्रा की स्‍ट्रेप को खींचा और कुछ कहा, जो कहा वो तो अब याद नहीं लेकिन मैं बहुत जोर से उन पर चिल्‍लाई।

लेखिका शुमा राहा ने द इंडियन एक्‍सप्रेस से कहा कि 1995 में जॉब इंटरव्‍यू के लिए कोलकाता के ताज बंगाल होटल में बुलाया, वहां पर उनके कमरे में बेड पर बैठकर इंटरव्‍यू देने को कहा। उसके बाद जॉब ऑफर करते हुए बाद में ड्रिंक पर आने को कहा| राहा ने कहा कि इन असहज करने वाली दशाओं के कारण उन्‍होंने वह जॉब नहीं की।

इसी तरह पत्रकार प्रेरणा सिंह बिंद्रा ने सात अक्‍टूबर को एक ट्वीट में इसी तरह की मिलती-जुलती घटना का जिक्र किया। हालांकि पहले उन्‍होंने अकबर का नाम अपने ट्वीट में नहीं लिया लेकिन सोमवार को उनके नाम का जिक्र किया। इसी तरह एक अन्‍य पत्रकार शुतापा पॉल ने रमानी के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए अकबर पर आरोप लगाए।

इस अभियान के तहत महिलाएं सामने आ रही हैं और अपने साथ हुए यौन उत्पीड़न को उजागर कर रही हैं। महिलाओं ने कॉरपोरेट, मीडिया, बॉलीवुड और राजनीति की हस्तियों पर आरोप लगाए हैं। महिलाओं के ये आरोप 10 साल से लेकर 25 साल पुराने हैं|

Summary
6 महिलाओं ने मंत्री म ज अकबर पर लगाए यौन उत्पीड़न के आरोप, कांग्रेस ने कहा पद से इस्तीफा दो|
Article Name
6 महिलाओं ने मंत्री म ज अकबर पर लगाए यौन उत्पीड़न के आरोप, कांग्रेस ने कहा पद से इस्तीफा दो|
Description
#मीटू अभियान में नई हस्तियों के नाम आ रहे हैं। इसी कड़ी में केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर पर भी आरोप लगे हैं। जब वे संपादक थे तो उन्होंने कई महिला पत्रकारों का यौन उत्पीड़न किया।
Author
Publisher Name
The Policy Times
Publisher Logo