विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज पर कसा शिकंजा, लंदन पुलिस ने किया गिरफ्तार

खोजी पत्रकारिता के लिए मशहूर विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे को जूलियन असांजे को लंदन के इक्वाडोरियन दूतावास में गिरफ्तार किया गया है, जहां असांजे को साल 2012 में शरण दी गई थी जबकि स्वीडन में यौन उत्पीड़न के आरोपों पर ब्रिटेन में उन्हें जमानत मिली थी।लंदन स्थित इक्वाडोर के दूतावास ने ब्रिटिश पुलिस को बुलाया था, जिसके बाद मेट्रोपॉलिटन पुलिस सर्विस (MPS) ने गुरुवार (11 अप्रैल) को उन्हें गिरफ्तार कर लिया। असांज 2012 से ही यहां शरण लिए हुए थे|

0
175 Views

खोजी पत्रकारिता के लिए मशहूर विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे को जूलियन असांजे को लंदन के इक्वाडोरियन दूतावास में गिरफ्तार किया गया है, जहां असांजे को साल 2012 में शरण दी गई थी जबकि स्वीडन में यौन उत्पीड़न के आरोपों पर ब्रिटेन में उन्हें जमानत मिली थी।लंदन स्थित इक्वाडोर के दूतावास ने ब्रिटिश पुलिस को बुलाया था, जिसके बाद मेट्रोपॉलिटन पुलिस सर्विस (MPS) ने गुरुवार (11 अप्रैल) को उन्हें गिरफ्तार कर लिया। असांज 2012 से ही यहां शरण लिए हुए थे|

Related Article:WikiLeaks founder Julian Assange arrested in London

पुलिस ने कहा कि 47 वर्षीय जूलियन अंसाजे को मेट्रोपॉलिटन पुलिस सर्विस ने इक्वाडोर दूतावास से 11 अप्रैल को गिरफ्तार कर लिया| पुलिस ने यह भी कहा कि इक्वाडोर ने जो शरण असांजे को दे रखी थी, उसको वापस लेने के बाद राजदूत ने पुलिस को दूतावास के अंदर बुलाया था, जहां असांजे को गिरफ्तार कर लिया गया|

असांजे साल 2012 से इक्वाडोर दूतावास में एक रिफ्यूजी के तौर पर रहे थे, ताकि वह स्वीडन प्रत्यर्पण से बच सके| स्वीडन के जांचकर्ता उनसे यौन उत्पीड़न के मामले में पूछताछ करना चाहते हैं| उस जांच को बाद में छोड़ दिया गया था, लेकिन असांजे को डर था कि उसे अमेरिका में आरोपों का सामना करने के लिए प्रत्यर्पित किया जा सकता है, जहां संघीय अभियोजक विकीलीक्स की जांच कर रहे हैं|

ऑस्ट्रेलियाई नागरिक असांजे ने 2012 में लंदन के इक्वाडोर दूतावास में आश्रय की मांग की थी और तब से वह वहीं रह रहा था|

पुलिस ने कहा कि असांजे को लंदन के एक केंद्रीय पुलिस स्टेशन में हिरासत में रखा गया है और उसे वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा|

इक्वाडोर द्वारा असांजे पर राष्ट्रपति लेनिन मोरेनो के निजी जीवन के बारे में जानकारी लीक करने का आरोप लगाया गया था, जिसके बाद उनके संबंध खराब हो गए. मोरेनो ने पहले कहा था कि असांजे ने उनकी शरण की शर्तों का उल्लंघन किया है|

मोरेनो ने कहा कि उन्होंने ब्रिटेन को यह गारंटी देने के लिए कहा था कि असांजे को ऐसे देश में नहीं प्रत्यर्पित किया जाएगा, जहां वह यातना या मौत की सजा का सामना कर सके|

Related Article:British PM expresses regret for 1919 Jallianwala Bagh massacre

कौन है जूलियन पॉल असांजे

जूलियन पॉल असांजे  विकिलीक्स के संस्थापक हैं। विकिलीक्स पर काम करने से पहले वे एक कंप्यूटर प्रोग्रामर और हैकर थे। विकिलीक्स पर उनके किये कार्यों के लिए 2008 में उन्हें इकॉनोमिस्ट फ्रीडम ऑफ़ एक्सप्रेशन अवार्ड और 2010 में सेम एडम्स अवार्ड प्रदान किया गया। उन्होने इराक युद्ध से जुड़े लगभग चार लाख दस्तावेज़ अपनी वेबसाइट पर जारी किए थे जिसमें अमेरिका, इंग्लैंड एवं नाटो की सेनाओं के गंभीर युद्ध अपराध करने के अकाट्य प्रमाण मौजूद थे।अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा तक ने उन्हें इसके ख़िलाफ़ चेतावनी दी थी। इसके पश्चात गिरफ्तारी के डर से उन्हें छिप-छिप कर जीवन बिताना पड़ा। 30 नवम्बर 2010 को अंतरराष्ट्रीय लोक अभियोजन अधिकारी ने असांजे के ख़िलाफ़ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया, उनके खिलाफ यौन अपराधों का मुकदमा दर्ज किया गया।

Summary
Article Name
WikiLeaks founder Julian Assange has been arrested after nearly seven years in the Ecuadorian embassy
Description
खोजी पत्रकारिता के लिए मशहूर विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे को जूलियन असांजे को लंदन के इक्वाडोरियन दूतावास में गिरफ्तार किया गया है, जहां असांजे को साल 2012 में शरण दी गई थी जबकि स्वीडन में यौन उत्पीड़न के आरोपों पर ब्रिटेन में उन्हें जमानत मिली थी।लंदन स्थित इक्वाडोर के दूतावास ने ब्रिटिश पुलिस को बुलाया था, जिसके बाद मेट्रोपॉलिटन पुलिस सर्विस (MPS) ने गुरुवार (11 अप्रैल) को उन्हें गिरफ्तार कर लिया। असांज 2012 से ही यहां शरण लिए हुए थे|
Author
Publisher Name
The Policy Times