तलाक की अर्जी देने के बाद घर नहीं लौटे तेजप्रताप: परिवार

राजद नेता तेज प्रताप यादव रांची में अपने पिता लालू प्रसाद से मिलकर बोधगया लौटने के बाद कहां गए हैं किसी को नहीं पता। उनके परिवार के सदस्य उनका पता लगाकर उन्हें घर लाने के लिए प्रयास रही हैं। गौरतलब है कि तेज प्रताप ने हाल में ही अपनी पत्नी ऐश्वर्या से तलाक लेने के लिये अदालत में अर्जी दायर की थी। दोनों की शादी तकरीबन छह महीने पहले हुई थी। लालू परिवार के करीबी सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि तेज प्रताप कहां हैं यह स्पष्ट नहीं हो पाया है क्योंकि वे किसी से फोन पर बात ही नहीं कर रहे हैं।

0
296 Views

तेज प्रताप के बाबा काशी विश्वनाथ के दर्शन के लिए वाराणसी जाने की चर्चा की भी लालू के पारिवारिक सूत्रों ने पुष्टि नहीं की है। बोधगया से राजद विधायक कुमार सर्वजीत ने बताया कि तेज प्रताप रांची से लौटने पर रविवार की रात्रि में बोधगया में एक होटल में ठहरे थे, लेकिन सोमवार को दोपहर वह पटना जाने की बात कहकर वहां से रवाना हो गए। सर्वजीत ने फोन पर बताया, मैंने रात के खाने पर पार्टी के अन्य नेताओं के साथ तेज प्रताप से रविवार को मुलाकात की थी। वे थके हुए दिख रहे थे। सोमवार को उन्होंने अलविदा कहते यह कहा कि वे घर लौट रहे हैं। मुझे केवल रॉयल रेजीडेंसी होटल से उनके प्रस्थान करने तक की ही उनके बारे में जानकारी है।

राजद विधायक चंद्रिका राय की बेटी और पूर्व मुख्यमंत्री दरोगा प्रसाद राय की पोती ऐश्वर्या राय से तेज प्रताप की शादी पिछले 12 मई को हुई थी। तेज प्रताप ने ऐश्वर्या से तलाक को लेकर गत शुक्रवार को अदालत में आवेदन दिया था जिसके बाद से उनके परिवार के सदस्य उन्हें अपने फैसले पर फिर से विचार करने के मनाने में लगे हुए हैं।

Related Article:

इस वजह से पटना नहीं लौटे तेजप्रताप

बोधगया से पटना न आकर बनारस पहुंचने की जानकारी से साफ है कि लालू प्रसाद के बड़े पुत्र विधायक तेजप्रताप यादव अपने परिवार से दूरी बनाए हुए हैं। उनके रुख से लग रहा है कि वह परिवार वालों के सामने जाने से झिझक रहे हैं। हालांकि तेजप्रताप की मां राबड़ी देवी और उनके समधी पूर्व मंत्री चंद्रिका राय वाया-मीडिया जानकारी एकत्र कर तेजप्रताप की गतिविधियों पर नजर रखे हुए हैं। सभी को उम्मीद है कि तेजप्रताप जल्द घर आएंगे और परिवारों के बीच सभी समस्याओं का समाधान निकाल लिया जाएगा। गौरतलब है कि गुरुवार को अपनी पत्नी ऐश्वर्या से तलाक की अर्जी दाखिल करने के अगले दिन से ही तेज पटना से बाहर हैं।

तेजप्रताप ने कहा, मैं गायब नहीं

सोमवार को बोधगया से रवाना होने के बाद से इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है कि तेज प्रताप कहां हैं। हालांकि तेज ने एक न्यूज पोर्टल से फोन पर बातचीत में दावा किया कि मैं गायब नहीं हुआ हूं। बनारस में हूं। उन्होंने वहां बाबा विश्वनाथ के दर्शन की भी इच्छा जतायी। हालांकि उनके मंदिर जाने की पुष्टि नहीं हुई। यह पूछने पर कि मीडिया में आपको गायब बताया जा रहा है, तेजप्रताप ने आरोप लगाया कि मीडिया ही गायब हो चुकी है। उन्होंने कहा कि क्या कोई कहीं जाता है तो किसी को बताकर जाता है। बताया जाता है कि श्री यादव लगातार अपने ठिकाने को छिपा रहे हैं, ताकि परिवार वाले उन पर समझाने के लिए दबाव न बना सकें। तेजप्रताप के इस रुख से सुलह की राहें मुश्किल होती जा रही हैं।

तेजस्वी गए चंद्रिका राय के घर

लालू परिवार की ओर से नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव व मां राबड़ी देवी लगातार ऐश्वर्या के पिता चंद्रिका राय व उनके परिवार से संपर्क बनाए हुए हैं। इसी क्रम में तेजस्वी चंद्रिका राय से मिलने उनके बेली रोड स्थित आवास पर भी गए। दोनों परिवार इस बात को लेकर उम्मीद बांधे हुए है कि तेजप्रताप का गुस्सा शांत होते ही सब कुछ ठीक हो जाएगा।

राबड़ी व चंद्रिका राय के आवास पर मायूसी

तेजप्रताप की पत्नी ऐश्वर्या अपने ससुराल में ही हैं। दोनों परिवारों में सामान्य दिनों की तरह ही कामकाज हो रहा है, लेकिन तेजप्रताप के वापस नहीं लौटने से मायूसी छायी हुई है। मंगलवार को चंद्रिका राय ने अपने परिजनों के साथ ज्यादा वक्त अपने आवास पर गुजारा। ऐश्वर्या की मां पूनम राय भी सामान्य दिनों की तरह कॉलेज गयीं और अध्यापन कार्य में जुटी रहीं।

Summary
Description
राजद नेता तेज प्रताप यादव रांची में अपने पिता लालू प्रसाद से मिलकर बोधगया लौटने के बाद कहां गए हैं किसी को नहीं पता। उनके परिवार के सदस्य उनका पता लगाकर उन्हें घर लाने के लिए प्रयास रही हैं। गौरतलब है कि तेज प्रताप ने हाल में ही अपनी पत्नी ऐश्वर्या से तलाक लेने के लिये अदालत में अर्जी दायर की थी। दोनों की शादी तकरीबन छह महीने पहले हुई थी। लालू परिवार के करीबी सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि तेज प्रताप कहां हैं यह स्पष्ट नहीं हो पाया है क्योंकि वे किसी से फोन पर बात ही नहीं कर रहे हैं।
Author
Publisher Name
The Policy Times
Publisher Logo