अलवर गैंगरेप मामले में राहुल गाँधी ने कहा, ‘यह मेरे लिए राजनितिक मुद्दा नहीं’… क्या है पूरा मामला?

इस मामले में राहुल गाँधी ने कहा, ‘यह मेरे लिए राजनीतिक मुद्दा नहीं है बल्कि भावनात्मक मामला है| मैं यहां राजनीति करने नहीं आया हूं बल्कि पीड़िता से मुलाकात करने आया हूं|’

0
Alwar Rape Case
274 Views

बीते 26 अप्रैल को राजस्थान के अलवर से गैंगरेप की घटना सामने आई जो वाकई दिल दहलाने वाली है| महज 18 साल की लड़की के साथ कथित तौर पर पांच युवकों ने बलात्कार किया| इतना ही नहीं, उसका विडियो बनाया गया और सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया गया| दलित परिवार की इस लड़की का रेप उसके पति सामने हुआ| इस घटना के एक हफ्ता बीत जाने के बाद भी पुलिस की ओर से कोई कारवाई नहीं की गई थी| जब मामला तूल पकड़ने लगा तब पुलिस हरकत में आई|

इस घटना को लेकर सियासी घमासान भी मचा हुआ है| कुछ दल पीड़िता को न्याय दिलाने का वादा कर रहे है वहीँ, इसे राजनितिक रंग देने की कोशिश कर रहे है| घटना के कुछ दिन बाद प्रधानमंत्री ने राजस्थान सरकार पर निशाना साधा था| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कहना था कि अलवर में एक दलित बेटी के साथ दो हफ्ते पहले कुछ दरिंदों ने सामूहिक बलात्कार किया लेकिन राजस्थान में चुनाव थे| कांग्रेस सरकार और पुलिस इस केस को छिपाने और दबाने में जुट गई| इसी के पलटवार में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पीएम मोदी पर इस घटना को राजनितिक रंग देने का आरोप लगाया और कहा, प्रधानमंत्री मोदी राजस्थान को लेकर बयानबाजी कर रहे हैं, वो तर्कसंगत नहीं है| उनकी पीड़ित परिवार से सहानुभूति रखने से ज्यादा इस घटना से राजनीतिक लाभ उठाने की मंशा है|

यह मेरे लिए राजनितिक मुद्दा नहीं, होगा न्याय: राहुल गाँधी

राजस्थान के अलवर में पीड़िता से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने मुलाकात की| राहुल गांधी ने कहा, ‘यह मेरे लिए राजनीतिक मुद्दा नहीं है बल्कि भावनात्मक मामला है| मैं यहां राजनीति करने नहीं आया हूं बल्कि पीड़िता से मुलाकात करने आया हूं| राहुल ने बताया, जैसे ही मुझे इस घटना की जानकारी मिली, मैंने अशोक गहलोत से बात की| मेरे लिए यह राजनीतिक मुद्दा नहीं है| मैं पीड़ित परिवार से मिला| उन्होंने न्याय की मांग की है| उनके साथ न्याय किया जाएगा| दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी|

जानिए पूरी कहानी, पति की जुबानी

बीबीसी में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़िता के पति ने बताया, ‘यह घटना 26 अप्रैल की है| दोपहर के तीन-सवा तीन बजे थे| हम दोनों बाइक पर थे, मेरे घर में दो-दो शादियां हैं तो हमने सोचा बाज़ार से कपड़े वगैरह ख़रीद लें| सोचा था कि लौटते हुए मंदिर में दर्शन भी कर लेंगे| हम जिधर से आ रहे थे, वह सुनसान इलाका था| यहीं से उन्होंने हमारा पीछा करना शुरू किया था| वो पांच लोग थे, दो बाइक पर… पीछा करते-करते अचानक हमारे पास आ गए और धक्का देकर हमें रेत के टीलों पर गिरा दिया|

वो हमसे पूछने लगे, कहां से आए हो? यहां अकेले क्या कर रहे हो? क्यों घूम रहे हो? हम लोगों ने उन्हें बताया कि हम पति-पत्नी हैं| हमारी शादी के एक साल से ज़्यादा हो गए हैं, चाहो तो हमारे घरवालों से पूछ लो लेकिन वो नहीं माने| वो कहते रहे, घूमने आए हो दोनों, झूठ बोल रहे हो| इसके बाद वो हमारे कपड़े फाड़ने लगे| उन्होंने मुझे बहुत बुरी तरह मारा| अंकिता को भी तीन-चार बार मारा| हम बहुत चिल्लाए, मदद के लिए आवाज़ लगाई, उनके सामने गिड़गिड़ाए लेकिन वहां कोई था ही नहीं|

आगे बताया, ‘तीन-पौने तीन घंटे तक उन्होंने हमें टॉर्चर किया| वीडियो बनाते रहे, हम उनके सामने गिड़गिड़ाते रहे कि वीडियो मत बनाओ लेकिन वो नहीं माने|

पीड़िता ने अपनी बात कही और बताया, ‘मुझे ही पता है मेरे साथ क्या हुआ है| आज मेरे साथ हुआ है, कल किसी और साथ न हो इसलिए मैं चाहती हूं कि इन अपराधियों को जल्द से जल्द सज़ा मिले| जल्द से जल्द, सख़्त से सख़्त और बड़ी से बड़ी सज़ा| मेरे हिसाब से फ़ांसी होनी चाहिए|

Summary
Article Name
Alwar Rape Case
Description
इस मामले में राहुल गाँधी ने कहा, ‘यह मेरे लिए राजनीतिक मुद्दा नहीं है बल्कि भावनात्मक मामला है| मैं यहां राजनीति करने नहीं आया हूं बल्कि पीड़िता से मुलाकात करने आया हूं|’
Author
Publisher Name
THE POLICY TIMES