कोविड-19: “ट्रम्प ने डब्ल्यूएचओ का वित्त पोषण रोकने का आदेश दिया”

कोरोना वायरस संकट पर गैर जिम्मेदार तरीके से काम करने का आरोप लगाते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मंगलवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन को दी जाने वाली आर्थिक सहायता पर रोक लगाने का ऐलान किया।

0

कोरोना वायरस संकट पर गैर जिम्मेदार तरीके से काम करने का आरोप लगाते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मंगलवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन को दी जाने वाली आर्थिक सहायता पर रोक लगाने का ऐलान किया। ट्रंप ने कहा कि जब तक घातक कोरोना वायरस के प्रसार को कम करने को लेकर ‘‘प्रबंधन में गंभीर गलती करने और जानकारी को छुपाने मेंडब्ल्यूएचओ की भूमिका की समीक्षा नहीं हो जाती, तब तक यह रोक जारी रहेगी। जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के अनुसार, कोरोना वायरस से अब तक अमेरिका में 25,000 से अधिक है

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आरोप लगाया कि डब्ल्यूएचओ ने कोरोना वायरस महामारी को लेकर अमेरिका को सही सलाह नहीं दीइस पर डब्ल्यूएचओ ने कहा कि इस स्थिति का राजनीतिकरण किया जाए और नेताओं को कोविड-19 से प्रभावित लोगों को बचाने पर ध्यान देना चाहिए | अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वह विश्व स्वास्थ्य संगठन को अमेरिका की ओर से दिए जाने वाले वित्त पोषण (फंडिंग) पर रोक लगाएंगे | उन्होंने संगठन पर कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के दौरान सारा ध्यान चीन पर केंद्रित करने का आरोप लगाया

ट्रंप ने व्हाइट हाउस में अपने नियमित संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘हम डब्ल्यूएचओ पर खर्च की जाने वाली राशि पर रोक लगाने जा रहे हैं | हम इस पर बहुत प्रभावशाली रोक लगाने जा रहे हैं | अगर यह काम करता है तो बहुत अच्छी बात होतीलेकिन जब वे हर कदम को गलत कहते हैं तो यह अच्छा नहीं है | विश्व स्वास्थ्य संगठन का मुख्यालय जिनेवा में स्थित है और उसे अमेरिका की ओर से बड़ी धनराशि मिलती है

ट्रंप ने आरोप लगाया, ‘उनको मिलने वाले वित्तपोषण का अधिकांश या सबसे बड़ा हिस्सा हम उन्हें देते हैंजब मैंने यात्रा प्रतिबंध लगाया था तो वे उससे सहमत नहीं थे और उन्होंने इसकी आलोचना की थी | वे गलत थे, वे कई चीजों के बारे में गलत रहे हैं, उनके पास पहले ही काफी जानकारी थी और वे काफी हद तक चीन केंद्रित लग रहे हैं | ’’ उन्होंने कहा कि उनका प्रशासन अमेरिका की ओर डब्ल्यूएचओ को दिए जाने वाले वित्त पोषण पर विचार करेगा | उन्होंने कहा, ‘देते हम उन्हें 5.8 करोड़ डॉलर से अधिक की धनराशि हैंइतने वर्षों में उन्हें जो पैसा दिया गया है उसके मुकाबले 5.8 करोड़ डॉलर छोटासा हिस्सा हैंकई बार उन्हें इससे कहीं ज्यादा मिलता है | ’

ट्रंप ने कहा, ‘लेकिन हम इस पर विचार करना चाहते हैं | उन्होंने (डब्ल्यूएचओ) इसे गलत बताया. वे महीनों पहले इसके बारे में बता सकते थे | वे जानते होंगे और उन्हें जानना चाहिए था | इसलिए हम बहुत सावधानीपूर्वक इस पर विचार करेंगे और हम डब्ल्यूएचओ पर खर्च की जाने वाली धनराशि पर रोक लगाने जा रहे हैं | ’ ट्रंप के बयान के बाद डब्ल्यूएचओ ने कहा कि इस स्थिति का राजनीतिकरण किया जाए और नेताओं को कोविड-19 से प्रभावित लोगों को बचाने पर ध्यान देना चाहिए | अल जजीरा के मुताबिक डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रॉस गेब्रेयेसस ने कहा, ‘सभी राजनीतिक दलों का फोकस अपने लोगों की जिंदगी बचाने पर होनी चाहिएइस वायरस का राजनीतिकरण करें | ’

इस बीच, सीनेट की विदेश मामलों की समिति के अध्यक्ष सीनेटर जिम रिच ने कोविड-19 से निपटने में डब्ल्यूएचओ के तौर तरीकों की स्वतंत्र जांच कराने की मांग की | उन्होंने कहा, ‘डब्ल्यूएचओ केवल अमेरिकी लोगों के लिए नाकाम हुआ बल्कि वह कोविड-19 से निपटने में घोर लापरवाही के साथ विश्व के मोर्चे पर भी नाकाम हुआ | ’

करीब 24 सांसदों के एक द्विदलीय समूह ने डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस गेब्ररेयेसुस के इस्तीफा देने तक डब्ल्यूएचओ की निधि रोकने वाला प्रस्ताव लाने का मंगलवार को एलान कियासाथ ही कोविड-19 से निपटने में चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की नाकामी को छिपाने में संगठन की भूमिका की अंतरराष्ट्रीय आयोग से जांच कराने की भी मांग की |

Summary
Article Name
कोविड-19: “ट्रम्प ने डब्ल्यूएचओ का वित्त पोषण रोकने का आदेश दिया”
Description
कोरोना वायरस संकट पर गैर जिम्मेदार तरीके से काम करने का आरोप लगाते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मंगलवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन को दी जाने वाली आर्थिक सहायता पर रोक लगाने का ऐलान किया।
Author
Publisher Name
THE POLICY TIMES
Publisher Logo