कोरोना संकट के बीच भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा – कोर्ट ने कुछ शर्तों के साथ यात्रा की अनुमति दी

कोरोना संकट के बीच आज 23 जून भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा निकल रही है।आज से शुरू होने वाली ऐतिहासिक जगन्नाथपुरी रथयात्रा को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने हरी झंडी दिखा दी है।

0

कोरोना संकट के बीच आज 23 जून भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा निकल रही है।आज  से शुरू होने वाली ऐतिहासिक जगन्नाथपुरी रथयात्रा को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने हरी झंडी दिखा दी है। कोर्ट ने कुछ शर्तों के साथ यात्रा को इस साल भी निकालने की अनुमति दी है।

पुरी में रथयात्रा की तैयारी जोरों पर है. यहां सुबह दस बजे भगवान जगन्नाथ रथ पर सवार होंगे। रथयात्रा को लेकर पुरी, कोलकाता और अहमदाबाद में खासा गहमागहमी है।

सुप्रीम कोर्ट ने कल दी थी सशर्त हरी झंडी

कोविड-19 महामारी के मद्देनजर अहमदाबाद में भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा जुलूस निकालने पर गुजरात  उच्च न्यायालय ने शनिवार शाम को रथ यात्रा पर रोक लगाने का आदेश दिया।

लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने यात्रा के ठीक एक दिन पहले हुई सुनवाई में भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा पर कोरोना संक्रमण के चलते लगी रोक हटा ली, लेकिन कड़ी शर्तों के साथ जैसे  :-

1)पुरी शहर में सभी प्रवेश बिंदु अर्थात एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड आदि, रथ यात्रा उत्सव की अवधि के दौरान बंद रहेंगे।

2)राज्य सरकार पुरी शहर में सभी दिनों में और रथयात्रा रथों को जुलूस में ले जाने के दौरान कर्फ्यू लगाएगी।

3) प्रत्येक रथ 500 व्यक्तियों द्वारा नहीं जाएगा। इन 500 व्यक्तियों में से हरेक का कोरोना टेस्‍ट किया जाएगा।

4) दो रथों के बीच एक घंटे का अंतराल होगा।

5) रथ यात्रा मे मंदिर के वही सेवादार अनुष्ठानों मे  शामिल होंगे जो कोरोना टेस्‍ट में निगेटिव आए हैं।

6) थयात्रा का टेलीविजन पर सीधा प्रसारण हो,ताकि लोग घर से यात्रा देख सकें।

7) ओड़ीशा सरकार यात्रा मे शामिल होने वाले लोगों का पूरा ब्यौरा रखें।


पुरी में लगाया गया कर्फ्यू, सख्त पाबंदी

आज भी हर साल की तरह पुरी में रथयात्रा निकलेगी, लेकिन न पहले जैसी भीड़ होगी, न दूसरी जगहों से पुरी में भक्तों की आवाजाही होगी।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार सोमवार रात 9 बजे से ही पुरी में कर्फ्यू लगा दिया गया है, जो बुधवार दोपहर 2 बजे तक जारी रहेगा। इस दौरान लोगों को घर से बाहर निकलने की इजाजत नहीं है।

पुरी के जगन्नाथ मंदिर में सभी पुजारियों की हुई कोरोना जांच 

ओडिशा के कानून मंत्री प्रताप जीना ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार, पुरी के जगन्नाथ मंदिर में सभी पुजारियों की कोरोना जांच की गई। एक पुजारी ने पॉजिटिव परीक्षण किया, जिस कारण उन्हें रथ यात्रा में भाग लेने की अनुमति नहीं है।

अहमदाबाद मे जगन्नाथ मंदिर परिसर के भीतर ही रथ यात्रा

यात्रा निकालने की मंजूरी मिलने के बाद मंदिर के अधिकारियों ने मंगलवार को मंदिर परिसर के भीतर ही भगवान की रथयात्रा निकालने का फैसला किया है।

भगवान जगन्नाथ मंदिर के मुख्य पुजारी, महंत दिलीप दासजी महाराज ने रविवार को कहा कि, ‘‘उच्च न्यायालय के आदेश के मद्देनजर, 143वीं रथयात्रा को छोटे स्तर पर आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। बड़े पैमाने पर रथयात्राा न निकालकर केवल मंदिर परिसर के भीतर ही निकाली जाएगी और और सभी अनुष्ठान विधिपूर्वक किए जाएंगे।’’

हालात बेकाबू होने पर रोकी जा सकती है रथयात्रा

शीर्ष अदालत ने यह भी कहा कि यदि हालात बेकाबू होते दिखें तो ओडिशा सरकार यात्रा को रोक सकती है। साथ ही कहा कि पुरी के अलावा ओडिशा में कहीं और यात्रा नहीं निकाली जाएगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,अमित शाह ने दीं शुभकामनाएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया कि भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा के पावन-पुनीत अवसर पर आप सभी को मेरी हार्दिक शुभकामनाएं। मेरी कामना है कि श्रद्धा और भक्ति से भरी यह यात्रा देशवासियों के जीवन में सुख, समृद्धि, सौभाग्य और आरोग्य लेकर आए। जय जगन्नाथ!

अमित शाह  ने टेवीत किया – मैं रथ यात्रा के शुभ अवसर पर सभी को हार्दिक बधाई देता हूं। महाप्रभु जगन्नाथ सभी को अच्छा स्वास्थ्य और समृद्धि प्रदान करें। जय जगन्नाथ!

Summary
Article Name
कोरोना संकट के बीच भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा - कोर्ट ने कुछ शर्तों के साथ यात्रा की अनुमति दी
Description
कोरोना संकट के बीच आज 23 जून भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा निकल रही है।आज से शुरू होने वाली ऐतिहासिक जगन्नाथपुरी रथयात्रा को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने हरी झंडी दिखा दी है।
Author
Publisher Name
THE POLICY TIMES
Publisher Logo