लोकसभा चुनाव के दौरान दूसरी बार महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में आतंकी हमला, 15 जवान शहीद

गढ़चिरौली महाराष्ट्र के सबसे ज़्यादा माओवाद प्रभावित इलाका है| लोकसभा चुनाव के दौरान इससे पहले भी आतिनकी हमले की घटना हो चुकी है| लोकसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान से एक दिन पहले महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में सीआरपीएफ की पेट्रोलिंग टीम पर नक्सलियों ने हमला किया था|

0
52 Views

Highlights-

  1. गढ़चिरौली में एक बार फिर बड़ा आतंकी हमला हुआ है जिसमें करीब 15 जवानों के मौत होने की खबर है|  
  2. ये जवान महाराष्ट्र पुलिस के सी60 कमांडोज़ थे| घटना ज़िले की कुरखेड़ा तालुका के पास हुई है|
  3. लोकसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान से एक दिन पहले महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में सीआरपीएफ की पेट्रोलिंग टीम पर नक्सलियों ने हमला किया था|
  4. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित महाराष्ट्र सरकार ने जताया खेद|

——————————————————————————————————

लोकसभा चुनाव के दौरान महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में एक बार फिर बड़ा आतंकी हमला हुआ है जिसमें करीब 15 जवानों के मौत होने की खबर है| सूत्रों के मुताबिक महाराष्ट्र के नक्सल प्रभावित जिले गढ़चिरौली में माओवादियों ने पुलिस की गाड़ी को उस वक्त निशाना बनाया जब पुलिस की टीम उस जगह जा रही थी जहां सुबह में ही नक्सलियों ने करीब 25 से 30 गाड़ियों को आग के हवाले किया था| जिस पुलिस की गाड़ी पर नक्सलियों ने हमला किया है उसमें 16 सुरक्षा कर्मी मौजूद थे|

जानकारी के मुताबिक, ये जवान महाराष्ट्र पुलिस के सी60 कमांडोज़ थे| घटना ज़िले की कुरखेड़ा तालुका के पास हुई है|

लोकसभा चुनाव के दौरान पहले भी हो चुके हमले

गढ़चिरौली महाराष्ट्र के सबसे ज़्यादा माओवाद प्रभावित इलाका है| लोकसभा चुनाव के दौरान इससे पहले भी आतिनकी हमले की घटना हो चुकी है| लोकसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान से एक दिन पहले महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में सीआरपीएफ की पेट्रोलिंग टीम पर नक्सलियों ने हमला किया था| नक्सलियों द्वारा सीआरपीएफ की पेट्रोलिंग टीम पर किए गए ब्लास्ट की चपेट में कई जवानों की मौत हो गई थी|

प्रधानमंत्री सहित महाराष्ट्र सरकार ने जताया खेद  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हमले की निंदा की है| उन्होंने ट्विटर पर लिखा है, ‘महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में जवानों पर हुए घिनौने हमले की कड़ी निंदा करता हूं| मैं सभी बहादुर जवानों को सलाम करता हूं| उनका बलिदान भुलाया नहीं जाएगा| मेरी संवेदनाएं पीड़ित परिवारों के साथ हैं| इस हमले के दोषियों को बख़्शा नहीं जाएगा|

दूसरी तरफ महाराष्ट्र सरकार में मंत्री सुधीर मुंगतीवार ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा है कि हमें लगता है कि हमने 15 पुलिस जवानों और एक ड्राइवर को खो दिया है| गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी ट्वीट किया है कि गृह मंत्रालय प्रदेश सरकार के संपर्क में है और उन्हें हर संभव सहायता मुहैया करा रही है|

‘सी-60 कमांडो’ क्या है?

माओवादियों की गुरिल्ला रणनीति का मुकाबला करने के लिए महाराष्ट्र पुलिस ने एक विशेष दल की स्थापना की थी जिसमें स्थानीय जनजाति के लोगों को शामिल किया गया था| 1992 में बने इस विशेष दल में 60 स्थानीय जनजाति समूह के लोगों को शामिल किया गया| धीरे-धीरे दल की ताकत बढ़ती गई और नक्सलियों के ख़िलाफ़ इनके ऑपरेशन भी बढ़ने लगे|

दल में शामिल जनजाति समूह के लोगों को स्थानीय जानकारी, भाषा और संस्कृति की जानकारी के चलते ये गुरिल्ला लड़ाकों से लोहा लेने में सफल रहे| 2014, 2015 और 2016 में में सी-60 के कमांडों को कई ऑपरेशन में सफलता प्राप्त हुई थी|

Summary
Article Name
Gadchiroli Maoist attack
Description
गढ़चिरौली महाराष्ट्र के सबसे ज़्यादा माओवाद प्रभावित इलाका है| लोकसभा चुनाव के दौरान इससे पहले भी आतिनकी हमले की घटना हो चुकी है| लोकसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान से एक दिन पहले महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में सीआरपीएफ की पेट्रोलिंग टीम पर नक्सलियों ने हमला किया था|
Author
Publisher Name
THE POLICY TIMES