कश्मीरी छात्रों को निशाना बनाए जाने पर उमर अब्दुल्ला ने उठाए सवाल; सुप्रीम कोर्ट ने जारी किया नोटिस

पुलवामा मे हुए आत्मघाती हमले के बाद देश के विभिन्न हिस्सों में कश्मीरी छात्रों को निशाना बनाए जाने पर जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुअलाह ने प्रधानमंत्री मोदी और कांग्रेस पर नाराज़गी जताई है| पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों में कश्मीर के छात्रों को निशाना बनाए जाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस चुप क्यों हैं? नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने एक प्रेस कांफ्रेंस में यह बात कही|

0

पुलवामा मे हुए आत्मघाती हमले के बाद देश के विभिन्न हिस्सों में कश्मीरी छात्रों को निशाना बनाए जाने पर जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुअलाह ने प्रधानमंत्री मोदी और कांग्रेस पर नाराज़गी जताई है| पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों में कश्मीर के छात्रों को निशाना बनाए जाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस चुप क्यों हैं? नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने एक प्रेस कांफ्रेंस में यह बात कही|

उन्होंने कहा, ‘उन कश्मीरी विद्यार्थियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की जरूरत है जो अपने उपर हमले के डर के कारण घर लौट आए हैं| उन्होंने कहा कि इस बात का इंतजाम किया जाए कि इन विद्यार्थियों का अकादमिक नुकसान न हो| आगे कहा कि कश्मीर के लोग कांग्रेस से सहानुभूति और नैतिक समर्थन के दो शब्द सुनने की उम्मीद कर रहे थे| कांग्रेस पर प्रहार करते हुए कहा कि आज, कांग्रेस ने संवाददाता सम्मेलन किया जहां हर बात का जिक्र किया गया लेकिन कश्मीरियों को व्यवस्थित ढंग से निशाना बनाए जाने पर खामोश रहे| ये वहीं ताकतें हैं जिनसे कांग्रेस शब्दों से लड़ रही है और उन्हें हराना चाहती है| हमें अफसोस है कि कांग्रेस ने इन ताकतों के खिलाफ प्रभावकारी ढंग से अपनी आवाज नहीं उठाई|

Related Article:पुलवामा हमला: भारत ने पाक से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीना

उमर अब्दुल्ला ने गृह मंत्रालय की ख़ामोशी पर भी सवाल किया है| उन्होंने कहा, ‘देश को मौजूदा स्थिति में एक स्टेट्समैन की जरूरत है न कि एक राजनेता की, लेकिन मैं हर जगह राजनेताओं को देखता हूं स्टेट्समैन को नहीं| उमर ने घाटी में रहने वालों का धन्यवाद करते हुए कहा कि हम उन लोगों के आभारी हैं जिन्होंने इस घड़ी में कश्मीरी के लोगों का साथ दिया चाहे वह पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह हों या पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री हों| उन्होंने हमलावरों के खिलाफ कार्रवाई की, उन्हें छुपाया नहीं गया|’

इसके साथ-साथ कश्मीरी लीडर ने क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान की दिल्ली यात्रा के दौरान भारत और सऊदी अरब द्वारा जारी संयुक्त बयान की भी आलोचना की है|

सुप्रीम कोर्ट ने जारी किया नोटिस

कश्मीरी छात्रों के साथ हो रहे भेदभाव और प्रताड़ना पर रोक लगाने के लिए देश की सर्वोच्च अदालत ने एक नोटिस जारी किया है| लाइव लॉ के मुताबिक कोर्ट ने केंद्र और 10 राज्यों को नोटिस जारी किया है| कोर्ट ने कहा है कि राज्यों के नोडल अफसर कश्मीरी और अन्य अल्पसंख्यकों के खिलाफ हिंसा तथा भेदभाव को रोकें|

Related Article:जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में बड़ा आतंकी हमला, 12 जवान शहीद; 15 घायल

इस मामले की सुनवाई के दौरान मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष भारत के अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने बताया कि इस मामले में केंद्र पहले ही सभी राज्यों को सलाह (एडवाइजरी) जारी कर चुका है| याचिका में आरोप लगाया गया कि पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद कश्मीर घाटी के छात्रों पर देशभर के विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों में हमला किया जा रहा है और संबंधित प्राधिकारियों को इस प्रकार के हमले रोकने के लिए कदम उठाने चाहिए|

पुलवामा हमले के बाद देशभर के कई इलाकों से इसी तरह कश्मीरी युवाओं के साथ मारपीट की घटनाएं सामने आई हैं| हिमाचल प्रदेश की पर्यटन नगरी मैक्लोडगंज में भी कश्मीरी युवकों के साथ मारपीट का वीडियो वायरल हुआ है| वीडियो में कुछ लोग पुलिस जवानों के सामने ही कश्मीरी युवक को पिटते दिख रहे हैं|

हरियाणा की पैसेंजर ट्रेन में दो कश्मीरी युवकों की पिटाई करने और गाली गलौज करते हुए उन्हें धक्का देकर स्टेशन पर उतार दिए जाने का मामला सामने आया| चंडीगढ़ के एक कॉलेज में हिमाचली छात्रों के साथ कश्मीरी छात्रों की झड़प हो गई जिसके बाद में कश्मीरी छात्रों को पुलिस सुरक्षा में घाटी के लिए रवाना किया गया| यूपी के सहारनपुर में कुछ हिंदू संगठन के लोगों ने शहर के कुछ कश्मीरी लोगों के घरों के बाहर प्रदर्शन किया और शहर छोड़कर जाने की चेतावनी दी|

Summary
Article Name
Omar Abdullah questions on Kashmiri students being targeted ;Supreme Court issues notice
Description
पुलवामा मे हुए आत्मघाती हमले के बाद देश के विभिन्न हिस्सों में कश्मीरी छात्रों को निशाना बनाए जाने पर जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुअलाह ने प्रधानमंत्री मोदी और कांग्रेस पर नाराज़गी जताई है| पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों में कश्मीर के छात्रों को निशाना बनाए जाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस चुप क्यों हैं? नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने एक प्रेस कांफ्रेंस में यह बात कही|
Author
Publisher Name
THE POLICY TIMES