पुलवामा हमला: पाक ने कहा, भारत द्वारा बताए 22 जगहों पर कोई आतंकी कैंप नहीं मिला

पुलवामा अटैक का जैश से लिंक होने के सबूतों को मांगने के बाद पकिस्तान ने गुरुवार को कहा कि भारत द्वारा बताए 22 जगहों पर कोई भी आतंकी कैंप नहीं मिला| पाकिस्तान ने बुधवार को शुरुआती जांच की जानकारियां इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायुक्त से साझा की थीं|

0
Pulwama attack: Pak said,No camps found at 22 places mentioned by India
1 Views

पुलवामा अटैक का जैश से लिंक होने के सबूतों को मांगने के बाद पकिस्तान ने गुरुवार को कहा कि भारत द्वारा बताए 22 जगहों पर कोई भी आतंकी कैंप नहीं मिला| पाकिस्तान ने बुधवार को शुरुआती जांच की जानकारियां इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायुक्त से साझा की थीं|

भारत ने 27 फरवरी को दिल्ली में पाक उच्चायुक्त को पुलवामा हमले के संबंध में डॉजियर सौंपा था| इसके साथ ही भारत ने बालाकोट समेत पीओके की 22 जगहों पर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के कैंप होने के सबूत दिए थे|

Related Article:Pakistan cracks down on terrorists outfits

पाकिस्तान का कहना है कि उसने भारत द्वारा बताई गईं 22 प्रमुख जगहों की जांच की है लेकिन वहां कोई भी आतंकी शिविर नहीं मिला| इतना ही नहीं, पाकिस्तान की पैंतरेबाजी दिखाते हुए यह भी कहा है कि अगर भारत गुजारिश करता है तो वह उन्हें इन जगहों का दौरा करने और निरीक्षण की इजाजत दे सकता है|

पाकिस्तान ने दावा किया है कि हिरासत में लिए गए 54 लोगों के पुलवामा हमले से जुड़े होने का कोई विवरण नहीं मिला है| अभी भी उनकी जांच की जा रही है| कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला है|

पाक ने इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायुक्त से पुलवामा हमले में जैश का हाथ होने और पाकिस्तान में जैश के आतंकी कैंप होने के सबूत मांगे थे|

भारत ने दिल्ली में पाकिस्तान के उच्चायुक्त को 27 फरवरी को पुलवामा हमले के संबंध में डॉजियर सौंपा था| भारत ने पाकिस्तान को हमले के पीछे जैश का हाथ होने के बारे में पुख्ता जानकारियां दी थीं| इसके अलावा भारत ने पाक में जैश के कैंप और उनके लीडरों के होने के भी सबूत सौंपे थे|

Related Article:Kashmiri vendors publicly attacked in Lucknow

सूत्रों के मुताबिक, पुलवामा में फिदायीन हमले के बाद पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने जैश के सरगना मसूद अजहर को ‘सेफ जोन’ में छिपा दिया था| अजहर को 17-18 फरवरी यानी पुलवामा हमले के बाद रावलपिंडी से बहावलपुर के नजदीक कोटघानी भेजा गया था| आईएसआई ने उसकी सुरक्षा भी बढ़ा दी है| बताया जा रहा है कि पुलवामा में जब हमला हुआ उस वक्त अजहर रावलपिंडी में सेना के अस्पताल में भर्ती था।

पुलवामा हमले और भारत की एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान सरकार पर अंतरराष्ट्रीय दबाव बढ़ रहा था| इसके बाद पाक सरकार ने मात-उद-दावा और फला-ए-इंसानियत के मुख्यालय को अपने नियंत्रण में ले लिया था| प्रतिबंधित संगठनों के 100 से ज्यादा लोग हिरासत में लिए गए थे और 182 मदरसों को सरकारी नियंत्रण में ले लिया गया था|

Summary
Article Name
Pulwama attack: Pak said,No camps found at 22 places mentioned by India
Description
पुलवामा अटैक का जैश से लिंक होने के सबूतों को मांगने के बाद पकिस्तान ने गुरुवार को कहा कि भारत द्वारा बताए 22 जगहों पर कोई भी आतंकी कैंप नहीं मिला| पाकिस्तान ने बुधवार को शुरुआती जांच की जानकारियां इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायुक्त से साझा की थीं|
Author
Publisher Name
The Policy Times