आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल का इस्तीफा…विपक्ष ने बताया अर्थव्यवस्था के लिए बड़ा झटका

पिछले कई दिनों से सरकार और आरबीआई के बीच विवाद बढ़ने से आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल ने सोमवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया| वहीँ, डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य के इस्तीफे की भी खबर आई है| वर्ष 1990 के बाद यह पहला मौका है जब आरबीआई के किसी गवर्नर ने कार्यकाल पूरा होने से पहले ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया हो| गवर्नर पद से पटेल के इस्तीफे के बाद राजनीती भी गरमा गई है| विपक्षी दल के नेता-मंत्रियों ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला है|

0
RBI governor Urjit Patel resigns ... Opposition said big setback for economy
7 Views

पिछले कई दिनों से सरकार और आरबीआई के बीच विवाद बढ़ने से आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल ने सोमवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया| वहीँ, डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य के इस्तीफे की भी खबर आई है| वर्ष 1990 के बाद यह पहला मौका है जब आरबीआई के किसी गवर्नर ने कार्यकाल पूरा होने से पहले ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया हो| गवर्नर पद से पटेल के इस्तीफे के बाद राजनीती भी गरमा गई है| विपक्षी दल के नेता-मंत्रियों ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला है|

सोमवार को पांच राज्य विधानसभा चुनावों के लिए मतगणना पर 21 राजनीतिक दलों की बैठक बुलाई गई थी जहाँ इस बीच देर शाम आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल के इस्तीफे की खबर के बाद खलबली मच गई| रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया के पद से उर्जित पटेल के इस्तीफा देने के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि यह सामान्य बात नहीं है| इस कड़ी में ममता बनर्जी ने कहा कि वें राष्ट्रपति से मुलाकात करेंगे क्यूंकि मौजूदा समय में देश में आर्थिक स्थिरता नहीं है| उन्होंने कहा कि यह देश के लिए घातक कदम है और पहले से ही देश में आर्थिक आपातकाल का माहौल बन गया है|

Related Article:Will Banking Reform help the Economy?

वहीँ, विपक्षी दलों की बैठक के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने संवाददाताओं से कहा, ‘बैठक के बीच में हमें पता चला कि आरएसएस और भाजपा का एजेंडा आगे बढ़ रहा है तथा आरबीआई प्रमुख ने इस्तीफा दे दिया है क्योंकि वह सरकार के साथ काम नहीं कर सकते थे| बैठक में यह सहमति बनी कि संस्थाओं पर भाजपा के हमले को रोकना है|’

कल देर शाम जारी एक बयान में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा, ‘मैं डॉ उर्जित पटेल को एक ऊंचे दर्जे के अर्थशास्त्री के तौर पर मानता हूं| वे एक ऐसे व्यक्ति हैं जो भारत की वित्तीय संस्थाओं और आर्थिक नीतियों को लेकर काफी सजग और चिंतित रहते हैं|’ मनमोहन सिंह ने कहा कि उर्जित पटेल का ऐसे समय में इस्तीफा देना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है जब देश की अर्थव्यवस्था कई किस्म के संकटों से दो चार है| उन्होंने पटेल के इस्तीफे को देश की अर्थव्यवस्था के लिए बहुत बड़ा झटका बताया|

आगे उन्होंने कहा कि आरबीआई के डिप्टी गवर्नर ने पहले इस बारे में आशंका जताई थी कि सरकार आरबीआई के कैपिटल रिजर्व पर आक्रमण करना चाहती है ताकि वह अपनी वित्तीय जरूरतें पूरी कर सके| उन्होंने कहा, ‘मैं उम्मीद करता हूं कि यह आशंका सच साबित न हो| साथ ही उन्होंने कहा संस्थाएं बनाने में लंबा वक्त और कोशिशें लगती हैं लेकिन उन्हें ख़त्म सिर्फ एक सनक में किया जा सकता है| आरबीआई जैसी संस्थाएं ही हैं जिन्होंने स्वतंत्रता के वक्त से अब तक देश की प्रगति में एक बुंलद इमारत की तरह योगदान दिया है| ऐसे संस्थानों को मामूली से राजनीतिक फायदों के लिए कमजोर करना उजड्डपन के अलावा कुछ नहीं|

Related Article:Without Black Economy, India’s GDP would have been eight time higher!

डॉ मनमोहन सिंह ने उर्जित पटेल को उनके भविष्य के लिए शुमकामनाएं देते हुए कहा, ‘मुझे आशा है कि उर्जित पटेल का अचानक इस्तीफा देश की 3 खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था की बुनियाद रहे संस्थानों की नींव कमजोर करने की शुरुआत साबित नहीं होगी|

पिछले दिनों से कई वित्तीय मसलों पर आरबीआई और मोदी सरकार के बीच मतभेद चल रहा था| जोखिम वाली संपत्ति (एनपीए) में लगातार वृद्धी को देखते हुए आरबीआई ने कड़ा रुख अपना लिया था| सरकारी क्षेत्र के कई बैंकों को आरबीआई ने प्रॉम्प्ट करेक्टिव एक्शन की केटेगरी में डाल दिया था इससे सबंधित बैंकों के कर्ज देने पर कई तरह के प्रतिबन्ध लगा गए थे| इसके अलावा एक कारण यह भी बताया जा रहा है कि आने वाले लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र सरकार कुछ लोक लुभावन फ़ैसले लेना चाहती थी| इसमें वह 1934 के रिजर्व बैंक एक्ट की धारा 7 का इस्तेमाल करना चाहती थी| बैंक इसके लिए संभवतः तैयार नहीं था| उसकी नज़र में यह सीधा-सीधा बैंक का राजनीतिक उपयोग हो सकता था| एक कुशल पेशेवर होने के नाते उर्जित पटेल के लिए इसे स्वीकार करना सही नहीं माना जाता| अपने कामकाज के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान वाले इस भारतीय संस्थान के लिए आने वाले दिन भी अत्यंत चेतावनी भरे हो सकते हैं|

Summary
RBI governor Urjit Patel resigns ... Opposition said big setback for economy
Article Name
RBI governor Urjit Patel resigns ... Opposition said big setback for economy
Description
पिछले कई दिनों से सरकार और आरबीआई के बीच विवाद बढ़ने से आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल ने सोमवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया| वहीँ, डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य के इस्तीफे की भी खबर आई है| वर्ष 1990 के बाद यह पहला मौका है जब आरबीआई के किसी गवर्नर ने कार्यकाल पूरा होने से पहले ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया हो| गवर्नर पद से पटेल के इस्तीफे के बाद राजनीती भी गरमा गई है| विपक्षी दल के नेता-मंत्रियों ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला है|
Author
Publisher Name
THE POLICY TIMES
Publisher Logo