तारिक अनवर ने थामा कांग्रेस का दामन, शरद पवार के बयान से हुई थी आहात

तारिक अनवर बिहार के कटिहार से पांच बार सांसद रह चुके हैं। माना जा रहा है कि वह कांग्रेस के टिकट पर अगला लोकसभा चुनाव भी लड़ सकते हैं।

0

मीडिया रिपोर्ट्स से यह भी खबर आ रही है कि वे लालू प्रसाद यादव के सहयोग से महागठबंधन के उम्मीदवार होंगे। राफेल डील पर एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार के बयान का हवाला देकर पार्टी की लोकसभा सदस्यता और पार्टी छोड़नेव का ऐलान करने वाले एनसीपी के पूर्व नेता तारिक अनवर शनिवार को कांग्रेस में शामिल हो गए। अनवर ने यहां कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव अशोक गहलोत की उपस्थिति में कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

जब से उन्होंने शरद पवार का 19 साल पुराना साथ छोड़ा तभी से कांग्रेस उनके स्वागत के लिए तैयार थी। उनका नाता कांग्रेस से बेहद पुराना है। इसी पार्टी से उन्होंने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी। साल 1976 में वह युवा कांग्रेस के अध्यक्ष बने थे और साल 1980 में बिहार के कटिहार से कांग्रेस के टिकट पर पहली बार सांसद बने। उन्होंने 1999 में कांग्रेस का दामन छोड़ दिया था।

अनवर ने शरद पवार और पीए संगमा के साथ मिलकर एनसीपी का गठन किया। सभी ने सोनिया गांधी के विदेशी मूल के मुद्दे पर पार्टी छोड़ी। बताया ये भी जाता है कि सोनिया गांधी के सीताराम केसरी के साथ किए बर्ताव के कारण अनवर ने पार्टी छोड़ी। तारिक अनवर के एनसीपी छोड़ने के फैसले का स्वागत राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने भी किया और उन्हें अनुभवी नेता बताया।

Related Articles:

“शरद पवार के बयान से हुई आहत,एनसीपी से इसलिए दिया इस्तीफा”

तारिक अनवर ने कहा था कि राफेल डील पर एनसीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बचाव में दिए गए बयान से वह काफी दुखी है। उन्होंने कहा कि संवेदनशील जैसे मुद्दे पर देश के जाने-माने नेता शरद पवार के बयान से दुखी हूँ।

दरअसल, केन्द्रीय मंत्री शरद पवार ने राफेल सौदे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बचाव किया था। उन्होंने कहा था, इस सौदे पर मोदी के इरादों को लेकर जनता के मन में संदेह नहीं है। शरद पवार ने एक मराठी चैनल को दिए साक्षात्कार मे कहा था कि मुझे निजी तौर पर लगता है कि लोगों के दिमाग में प्रधानमंत्री की नीयत को लेकर कोई शक नहीं है। विपक्ष राफेल की तकनीकी जानकारी साझा करने की मांग कर रहा है, लेकिन इसका कोई मतलब नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार को राफेल सौदे की कीमत बताने में गुरेज नहीं होना चाहिए। उन्होंने यह भी जोड़ा कि अब वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सरकार का पक्ष साफ-साफ रखा है। इससे लोगों का भ्रम दूर हो गया। शरद पवार ने बाद में कहा कि उनके इस बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है।

 

Summary
तारिक अनवर ने थामा कांग्रेस का दामन, शरद पवार के बयान से हुई थी आहात
Article Name
तारिक अनवर ने थामा कांग्रेस का दामन, शरद पवार के बयान से हुई थी आहात
Description
तारिक अनवर बिहार के कटिहार से पांच बार सांसद रह चुके हैं। माना जा रहा है कि वह कांग्रेस के टिकट पर अगला लोकसभा चुनाव भी लड़ सकते हैं।
Author
Publisher Name
The Policy Times
Publisher Logo