आज से रमजान की शुरुआत, जानें रोज़ा रखने के फाएदे

इस रमजान में रोजेदारों के लिए मुश्किलें हो सकती है क्यूंकि लगभग सभी रोज़े 15 घंटे से अधिक के होंगे| पिछली बार की तुलना में इस बार सिर्फ 14 मिनट कम हुए है| वहीँ, ईद 4 या 5 जून को होगी|

0
The beginning of Ramadan from today, Learn the benefits of fasting
280 Views

6 मई की शाम चाँद दिख जाने के बाद रमजान के महीने की शुरुआत हो गई है| इस रमजान में रोजेदारों के लिए मुश्किलें हो सकती है क्यूंकि लगभग सभी रोज़े 15 घंटे से अधिक के होंगे| पिछली बार की तुलना में इस बार सिर्फ 14 मिनट कम हुए है| वहीँ, ईद 4 या 5 जून को होगी| रमजान का आखिरी शुक्रवार यानी जुमा 31 मई को होगा| दिल्ली में सहरी 3.51 बजे तड़के होगी और इफ्तार 7.15 बजे होगा| वहीं, कुछ जगह यह अवधि 3.39 बजे प्रात: से 7.11 बजे तक रहने की संभावना है|

पूरे दिन भूखे-प्‍यासे रहने के बाद इफ्तारी के समय खजूर खा कर रोजा खोला जाता है| इसके पीछे साइंटिफिक कारण भी है| खजूर में भरपूर मात्रा में विटामिन A, फोलिक एसिड और फाइबर होता है जो हेल्थ के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है| यह बॉडी की इम्यूनिटी बढ़ाता है| इसे खाने से कई तरह की बीमारियों की आशंका घटती है और प्यास भी कम लगती है|

Related Article:रमजान के पाक महीने में ऐसे कंट्रोल करें डायबिटीज

एनर्जी लेवल बढ़ाता है खजूर

रोजा रखने से एनर्जी लेवल कम होता है| ऐसे में रोजा खोलते समय खजूर खाने से बॉडी को तुरंत एनर्जी मिलती है| दिनभर भूखे रहने से डाइजेशन प्रॉसेस स्लो हो जाता है| ऐसे में रोजा इफ्तारी के समय खजूर खाते हैं तो इससे डाइजेशन प्रॉसेस तुरंत एक्टिव हो जाता है| साथ ही इसमें मौजूद फाइबर कब्‍ज की प्रॉब्लम से भी बचाता है|

रोज़ा रखने के फाएदे-

मोटापा कम करे

रोजा रखने वालो को सबसे बड़ा फायेदा यह है कि इससे मोटापा कम करने में मदद मिलती है| रोजा के दौरान या बाद जब ग्लूकोज का ख़त्म हो जाता है तब शरीर के लिए ऊर्जा का अगला स्रोत वसा बन जाता है और शरीर से वसा कम होना शुरू हो जाता है| इससे वज़न घटता है| इसके साथ ही कोलेस्ट्रोल की मात्रा भी घटती है और शुगर के खतरे को भी कम करता है|

Related Article:Ramadan is here: millions of Muslims observe the holiest month in the Islamic Calendar

संक्रमण से बचाता है

आमतौर पर लोग रोजाना अपने आहार के माध्‍यम से अधिक कैलरी खाते हैं और यह हमारे शरीर को कई तरह के कार्यों में रूकावट पैदा करते हैं| हालांकि, रोजा के दौरान इसे नियमित किया जा सकता है| जिससे शरीर अन्‍य कार्यों पर ध्‍यान दे सकती है| ऐसे में रोजा रखने से संक्रमण को रोका जा सकता है और खुद को स्‍वस्‍थ रखा जा सकता है|

एकाग्रता बढ़ाए

रोज़ा रखने से हमें मानसिक शांति मिलती है| आपकी याददाश्त और एकाग्रता बढ़ सकती है| इसके अलावा आपमें और अधिक एनर्जी का प्रसार भी हो सकता है| सोच में भी सकारात्‍मकता आती है| इससे किसी काम को करने की क्षमता बढ़ती है|

Summary
Article Name
The beginning of Ramadan from today, Learn the benefits of fasting
Description
इस रमजान में रोजेदारों के लिए मुश्किलें हो सकती है क्यूंकि लगभग सभी रोज़े 15 घंटे से अधिक के होंगे| पिछली बार की तुलना में इस बार सिर्फ 14 मिनट कम हुए है| वहीँ, ईद 4 या 5 जून को होगी|
Author
Publisher Name
The Policy Times