जिस दिन बाबरी मस्जिद गिराई गयी, उस दिन संविधान भी ध्वंस किया गया: शरद यादव

शरद यादव ने अयोध्या में विश्व हिंदू परिषद की ‘धर्म संसद' को लेकर सोमवार को भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि चुनाव से पहले मंदिर का मुद्दा उठाया जाता है ताकि देश को बांटा जा सके| शरद यादव ने कहा कि देश की उम्र बढ़ने के साथ लोकतांत्रिक मर्यादा का क्षरण हो रहा है जो बहुत चिंता की बात है|

0
The day the Babri Masjid was demolished, the Constitution was also destroyed: Sharad Yadav

लोकतांत्रिक जनता दल के नेता शरद यादव ने बाबरी मस्जिद विध्वंस पर बड़ा बयान देते हुए कहा है कि जिस दिन बाबरी मस्जिद को ध्वस्त किया गया वह सिर्फ एक ढांचा को नहीं गिराया गया था| बल्कि भारतीय संविधान का ध्वंस किया गया था।शरद यादव ने कहा कि चुनाव से पहले मंदिर का मुद्दा उठाया जाता है ताकि देश को बांटा जा सके। इस दौरान शरद ने कहा कि आज देश की हालात ठीक नहीं हैं।यहां तक कि संविधान की पवित्रता भी कम हो गई थी। कांग्रेस के अनुसूचित जाति विभाग की ओर से आयोजित संविधान दिवस समारोह में शरद यादव ने ये बात कही।

उन्होंने कहा, ‘अयोध्या में जो गिराया गया वो ढांचा नहीं गिराया था, बल्कि संविधान का ध्वंस किया गया था और संविधान की सारी मर्यादा को तोड़ा गया था।

Related Articles:

शरद यादव ने अयोध्या में विश्व हिंदू परिषद की ‘धर्म संसद’ को लेकर सोमवार को भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि चुनाव से पहले मंदिर का मुद्दा उठाया जाता है ताकि देश को बांटा जा सके| शरद यादव ने कहा कि देश की उम्र बढ़ने के साथ लोकतांत्रिक मर्यादा का क्षरण हो रहा है जो बहुत चिंता की बात है|

अयोध्या में एक बार फिर राम मंदिर निर्माण पर जारी सियासी हलचल की निंदा करते हुए शरद ने कहा, ‘एक बार फिर से इसे आस्था का विषय बताया जा रहा है। दरअसल, मंदिर का मुद्दा सांप्रदायिक ताकतें तभी उठाती हैं जब चुनाव नजदीक होता है। इनका मकसद सिर्फ और सिर्फ देश को तोड़ना है और हमें इनसे सतर्क रहना चाहिए। धर्म के आधार पर भेदभाव और देश को नहीं बांटा जाना चाहिए।

लोकतंत्र की मर्यादा लगातार हो रही है कम

शरद ने कहा हमारा संविधान साझा विरासत की बात करता है। यह विविधताओं वाला देश है। यहां अलग-अलग जाति और धर्म के लोग रहते हैं। यह चिंता की बात है कि जैसे-जैसे भारत की उम्र बढ़ रही है उसी तरह लोकतंत्र की मर्यादा लगातार कम हो रही है।

आज देश के हालात ठीक नहीं

पूर्व जेडीयू अध्यक्ष ने एक बयान में कहा आज देश में हालात ठीक नहीं है। सिर्फ हिन्दू-मुस्लिम करने के अलावा कुछ नहीं हो रहा है। मौजूदा शासन में देश कठिनाई के दौर से गुजर रहा है। आए दिन संविधान विरोधी ताकतें देश को बांटने और तोड़ने का काम कर रही है। सांप्रदायिक ताकतों द्वारा लोगों को गुमराह किया जा रहा है और धार्मिक उन्माद को बढ़ावा दिया जा रहा है।

Summary
The day the Babri Masjid was demolished, the Constitution was also destroyed: Sharad Yadav
Article Name
The day the Babri Masjid was demolished, the Constitution was also destroyed: Sharad Yadav
Description
शरद यादव ने अयोध्या में विश्व हिंदू परिषद की ‘धर्म संसद' को लेकर सोमवार को भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि चुनाव से पहले मंदिर का मुद्दा उठाया जाता है ताकि देश को बांटा जा सके| शरद यादव ने कहा कि देश की उम्र बढ़ने के साथ लोकतांत्रिक मर्यादा का क्षरण हो रहा है जो बहुत चिंता की बात है|
Author
Publisher Name
THE POLICY TIMES
Publisher Logo