“प्रधानमंत्री मोदी के आवास पर यूनियन कैबिनेट की बैठक बुधवार (15 अप्रैल), लॉकडाउन पर चर्चा संभव”

नए कोरोना वायरस की चुनौती से निपटने के लिए सरकार किसी तरह का कसर नहीं छोड़ रही है। इस क्रम में बार-बार यूनियन कैबिनेट की बैठकें भी हो रहीं हैं।

0

नए कोरोना वायरस की चुनौती से निपटने के लिए सरकार किसी तरह का कसर नहीं छोड़ रही है। इस क्रम में बारबार यूनियन कैबिनेट की बैठकें भी हो रहीं हैं।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 7, लोक कल्याण मार्ग (7, Lok Kalyan Marg) स्थित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास पर बुधवार, 15 अप्रैल को यूनियन कैबिनेट की मीटिंग का आयोजन किया जाना है। संभव है कि इस बैठक में बढ़ाए गए लॉकडाउन की समयसीमा इससे संबंधित दिशा निर्देशों को लेकर बातचीत की जाएगी। देश को अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने ऐलान किया कि 3 मई तक देश में लॉकडाउन जारी रहेगा।

25 मार्च को जारी हुए 21 दिनों का लॉकडाउन आज 14 अप्रैल को खत् होने वाला था जिसे प्रधानमंत्री ने आगे बढ़ाकर 3 मई तक कर दिया है। इसके तहत अब ट्रेनों का परिचालन भी 3 मई के बाद ही होगा। साथ ही मेट्रो ट्रेनें भी 3 मई के बाद ही चलेंगी। हालांकि उन्होंने 20 अप्रैल के बाद लॉकडाउन में राहत के कुछ संकेत भी दिए हैं। 

उन्होंने कहा है कि यह छूट उन्हीं जगहों को दी जाएगी जहां इससे जुड़े किसी नए मामले की जानकारी नहीं होगी। प्रधानमंत्री ने करीब 25 मिनट के राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा कि दूसरे चरण में लॉकडाउन का सख्ती से पालन सुनिश्चित किया जायेगा और बुधवार को इस संबंध में विस्तृत दिशानिर्देश जारी किए जाएंगे ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि यह नये क्षेत्रों में फैले उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि ऐसे लोग जो रोज की कमाई से अपनी जरूरतें पूरी करते हैं, ऐसे लोगों और किसानों के जीवन में आई मुश्किलों को कम करना उनकी सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर सिर्फ आर्थिक दृष्टि से देखें तो अभी ये मंहगा जरूर लगता है लेकिन भारतवासियों की जिंदगी के आगे, इसकी कोई तुलना नहीं हो सकती। उन्होंने कहा कि भारत कई विकसित देशों की तुलना में महामारी के फैलाव को रोकने में सफल रहा है भारत ने समग्र एवं समन्वित उपाय एवं पहल नहीं की होतींतेजी से फैसले नहीं लिये होते, तो आज भारत की स्थिति कुछ और होती लेकिन बीते दिनों के अनुभवों से ये साफ है कि हमने जो रास्ता चुना है, वो सही है मोदी ने कहा कि राज्यों एवं विशेषज्ञों से चर्चा और वैश्विक स्थिति को ध्यान में रखते हुए भारत में लॉकडाउन को अब 3 मई तक और बढ़ाने का फैसला किया गया है। गौरतलब है कि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लागू 21 दिन के लॉकडाउन का वर्तमान चरण आज (14अप्रैल) समाप्त हो रहा है स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के अब तक 10,363 मामले सामने आए हैं और इसके कारण अब तक 339 लोगों की मौत हो चुकी है ओडिशा, पंजाब, महाराष्ट्र, तेलंगाना, तमिलनाडु और पुडुचेरी ने पहले ही लॉकडाउन बढ़ाने का ऐलान कर दिया था।

उल्लेखनीय है कि जब देश में मात्र 550 कोविड-19 संक्रमण के मामले सामने आए थे तभी भारत सरकार ने लॉकडाउन जैसा बड़ा ऐलान कर दिया था। उससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने 22 मार्च कोजनता कर्फ्यूलगाया था।

स्वास्थय मंत्रालय  द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, देश भर में नॉवेल कोरोना वायरस से संक्रमण के कुल मामलों का आंकड़ा 10,000 से अधिक हो गया है। साथ ही मरने वालों की संख्या भी 300 के पार चली गई है। बता दें पिछले साल के अंत में चीन के वुहान शहर में इस महामारी का पहला मामला सामने आया था इसके बाद के चार महीनों के भीतर ही इस घातक वायरस ने पूरी दुनिया को अपने चपेट में ले लिया।

Summary
Article Name
"प्रधानमंत्री मोदी के आवास पर यूनियन कैबिनेट की बैठक बुधवार (15 अप्रैल), लॉकडाउन पर चर्चा संभव"
Description
नए कोरोना वायरस की चुनौती से निपटने के लिए सरकार किसी तरह का कसर नहीं छोड़ रही है। इस क्रम में बार-बार यूनियन कैबिनेट की बैठकें भी हो रहीं हैं।
Author
Publisher Name
THE POLICY TIMES
Publisher Logo