वंदे भारत मिशन: “सबसे बड़ी घर वापसी,1200 से ज्यादा भारतीय स्वदेश लौटे”

विदेश से अपने देश लाए जा रहे भारतवासियों को सुरक्षित रूप से रिसीव करने के लिए देशभर के एयरपोर्ट्स (Airports) और बंदरगाहों ने कमर कस ली है।

0

विदेश से अपने देश लाए जा रहे भारतवासियों को सुरक्षित रूप से रिसीव करने के लिए देशभर के एयरपोर्ट्स (Airports) और बंदरगाहों ने कमर कस ली है। गुरुवार को भारतीयों (Stranded Indians) को लेकर पहला विमान अबूधाबी से आया। यह काम एयर इंडिया और भारतीय नेवी मिलकर कर रही है। इसे वंदे भारत और समुद्र सेतु मिशन (Vande Bharat and Samudra Setu misson) नाम दिया गया है। इस मिशन में हीरोज एयर इंडिया और भारतीय नेवी के कर्मचारी हैं जो लगातार जुटे हुए हैं।

हाइलाइट्स :

  • वंदे भारत मिशन के तहत विदेश में फंसे भारतीयों को वापस लाएगी मोदी सरकार
  • गुरुवार को अबूधाबी से दो सौ भारतीयों को लेकर एयर इंडिया की फ्लाइट आएगी
  • इस मिशन के तहत कई देशों में फंसे 15 हजार भारतीयों को वापस लाने की तैयारी

कोरोना के कारण देश के अलगअलग हिस्सों के अलावा दुनियाभर में फंसे भारतीयों (Stranded Indians) को लाने के प्रयास तेज हो गए हैं। गुरुवार को विदेश से आये सैकड़ों भारतीयों के लिए देश के हवाई अड्डेs (Airports of India) और बंदरगाह पूरी तरह तैयार किया गुरुवार से शुरू हुई अब तक के इस सबसे बड़े अभियान की तैयारियों को चुस्तदुरुस्त करने के लिए विदेश मंत्रालय ने बुधवार को कई बैठकें कीं। साथ ही हवाई अड्डों को भी इसके लिए तैयार किया गया क्योंकि गुरुवार को एयर इंडिया (Air India) की ऐसी ही एक फ्लाइट 200 नागरिकों के साथ अबूधाबी से भारत आया एयर इंडिया (air india Vande Bharat misson) का स्टाफ इन दिनों विदेश में फंसे भारतीयों के लिए भगवान से कम नहीं है। ये ही वे लोग हैं जो कोरोना वायरस संकट (coronavirus epidemic) के बीच फ्लाइट्स को दुनिया के अलगअलग कोनों तक लेकर जा रहे हैं। इनकी वजह से ही लोगों की घर वापसी हो पा रही है। फ्लाइट में मौजूद पायलट, स्टाफ, एयरपोर्ट पर मौजूद स्टाफ सभी वंदे भारत मिशन के हीरोज हैं जो जान की परवाह करते हुए काम में लगे हुए हैं।

 सूत्रों ने बताया कि विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला नेवंदे भारत मिशननामक इस अभियान की सफलता के लिए जारी प्रयासों के तहत कई राज्यों के मुख्य सचिवों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की योजना के अनुसार सरकार, गुरुवार से विभिन्न देशों में उड़ानें भेजना शुरू किया सूत्रों के मुताबिक, विदेश मंत्री एस जयशंकर इस मिशन के क्रियान्वयन पर खुद ही नजर रख रहे हैं और उन्होंने इस विषय पर कई बैठकें की जिनमें गृह मंत्रालय,नागर विमानन मंत्रालय, स्वास्थ्य मंत्रालय एवं राज्यों के प्रतिनिधि शामिल थे। विदेश मंत्रालय ने इस काम के सिलसिले में अधिकतर राज्यों के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए हैं

क्या है वंदे भारत मिशन:

  • नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया था कि एयर इंडिया 7 से 13 मई तक 12 देशों के लिये 64 उड़ानों का संचालन करके कोरोना वायरस लॉकडाउन की वजह से विदेश में फंसे करीब 15000 भारतीयों को वापस लाएगी।
  • आज सिंगपुर से एयर इंडिया की फ्लाइट 234 भारतीयों को वापस लेकर आई। इन्हें दिल्ली एयरपोर्ट पर लैंड करवाया गया। एयरपोर्ट पर थर्मल स्क्रीनिंग, सोशल डिस्टेंसिंग सबका पालन हुआ। तस्वीर में आपको फ्लाइट क्रू दिख रहा है जो करीब आठ घंटे ऐसे ही पीपीई में रहा।
  • मिशन के पहले दिन यानी 7 तारीख को एयर इंडिया की एक फ्लाइट अबुधाबी गई थी। वहां से 177 यात्रियों और 4 नवजातों को कोच्चि लैंड करवाया गया था। फिर दूसरी फ्लाइट 177 भारतीयों और 5 नवजातों को लेकर दुबई से कोझिकोड आई।
  • कोरोना वायरस महामारी की वजह से बांग्लादेश में फंसे 168 भारतीय छात्रों का पहला जत्था एयर इंडिया के एक विशेष विमान से शुक्रवार को स्वदेश रवाना हुआ। यह विमान सीधे श्रीनगर हवाई अड्डे पहुंचेगा। इन छात्रों को भीअभियान वंदे भारतस्वदेश वापसीके तहत लाया जा रहा है।
  • समुद्रसेतु मिशन के तहत भारतीय नेवी का जहाज 750 भारतीयों को लेकर आज लौटा। ये लोग मालदीव से कोच्चि लाए गए हैं।
  • समुद्रसेतु भी वंदेभारत का ही हिस्सा है। नौसेना ने इस मिशन को समुद्र सेतु (Samudra Setu) नाम दिया है।

दिल्ली के स्वास्थ्य सचिव की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि कोरोना वायरस के प्रसार की आशंका को कम करने के लिए, स्वदेश वापसी के बाद शहर के हवाई अड्डे पर उतरने वाले ऐसे यात्रियों की जांच और प्रबंधन के लिए दिशानिर्देश जारी किए गए हैं। कुल 1000 लोग नौसेना के जहाज आईएनएस जलाश्व और आईएनएस मगर से से पहली यात्रा में वापस लाये जाने हैं अभियान के तहत 64उड़ानों से संयुक्त अरब अमीरात, ब्रिटेन, अमेरिका, कतर, सऊदी अरब, सिंगापुर, मलेशिया, फिलीपीन, बांग्लादेश, बहरीन, कुवैत और ओमान से फंसे हुए भारतीय लाए जाएंगे।

Summary
Article Name
वंदे भारत मिशन: "सबसे बड़ी घर वापसी,1200 से ज्यादा भारतीय स्वदेश लौटे"
Description
विदेश से अपने देश लाए जा रहे भारतवासियों को सुरक्षित रूप से रिसीव करने के लिए देशभर के एयरपोर्ट्स (Airports) और बंदरगाहों ने कमर कस ली है।
Author
Publisher Name
THE POLICY TIMES
Publisher Logo